पेट के बल सोने से होते हैं ये 5 बड़े नुकसान, नबंर 3 से तो है हर कोई परेशान

स्वास्थ्य को लेकर छोटी छोटी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। पोषक तत्वों से युक्त खाने से लेकर सोने के तरीके तक सभी बातों का ध्यान रखकर ही आप अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। शरीर के लिए जितना जरूरी खाना है उतना ही जरूरी सोना भी है। लेकिन कई लोग गलत तरीके से सोते हैं और फिर स्वास्थय संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

ये सच बात है कि रात को 7 से 8 घंटे की नींद बहुत ही जरूरी है।  नींद की कमी स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा असर डालती है। सिर्फ सोना ही नहीं बल्कि सही पोजीशन में सोना जरूरी है। अलग अलग लोगों को अलग अलग तरीके से आराम करते हैं। कुछ लोग पेट के बल सोकर आराम महसूस करते हैं। लेकिन पेट के बल सोने से कई तरह के परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ये आदत कई तरह के हैल्थ प्राब्लम को भी पैदा कर सकती है। तो आइये जानते हैं पेट के बल सोने से स्वास्थय संबंधी क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।

  • बैक पेन- पेट के बल सोने से रीढ़ की हड्डी अपने नेचुरल शेप में नहीं रहती है। इससे बैक पेन की प्राब्लम होती है। कमर में दर्द की समस्या अक्सर लोगों को रहती है। अगर आप भी इस समस्या से गुजर रहे हैं तो अपने सोने के तरीके पर ध्यान दें। क्योंकि कमर दर्द बहुत ज्यादा पीड़ादायक और असहनीय होता है। काम करने से लेकर बैठने उठने की समस्या भी होने लगती है। .
  • गर्दन में खिंचाव- पेट के बल सोने से शरीर का रक्त संचरण प्रभावित होता है। ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाता है। गर्दन सही तरीके से नहीं रहता है, जिससे दर्द का सामना करना पड़ सकता है। इससे गर्दन में खींचाव होता है। पेट के बल सोने से गर्दन में भी असर पड़ता है।

  • सिरदर्द- सिरदर्द की समस्या एक आम समस्या है। लेकिन पेट के बल सोने से भी सिरदर्द की समस्या हो सकती है। क्योंकि पेट के बल सोने से गर्दन की पोजीशन सही नहीं रहती है। इससे सिर के अंदर ब्लड का सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाता। जिससे सिर में दर्द होता है। ये समस्या बड़ी भी हो सकती है। अगर सिरदर्द जैसी समस्या से गुजर रहे हैं तो अपने सोने के ढंग पर भी ध्यान दें। और अगर आप गलत तरीके से सोते हैं तो ये आपके सिरदर्द का बड़ा कारण हो सकता है।
  • पाचन क्रिया में गड़बड़ी- पेट के बल सोने से पाचन संबंधी भी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इससे आसानी से खाना नहीं पचता। जो आपके पाचन क्रिया पर बुरा असर डाल सकता है। जिन लोगों की आदत पेट के बल सोने की होती है। उन्हें पेट संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

  • चेहरे पर प्रभाव- चेहरे को पर्याप्त मात्रा में अॉक्सीजन चाहिए होता है। इसके न मिलने से चेहरे में मुंहासे और झुर्रियां आदि आ जाते थे। इसके अलावा जब आप पेट के बल सोते हैं तो चेहरा दब जाता है। इससे चेहरे के शेप बदलने जैसी समस्या भी आ सकती है। तो अगर आप भी पेट के बल सोना पसंद करते हैं तो अपनी इस आदत को सुधार लें वरना इन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

पीठ के बल सोना अधिक फायदेमंद रहता है। इससे शरीर के अंदर के हिस्से सही तरीके से काम करते हैं। और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से सामना करना नहीं पड़ता है। इससे पाचन संबंधी परेशानियां भी कम हो जाती हैं।