क्या सच में दिल्ली में अटल जी की अस्थि विसर्जन के दौरान दिखा दैविय शक्तियों का कमाल

नई दिल्ली: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अलट बिहारी वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे। अटल जी के देहांत के बाद पूरे देश में जगह-जगह उनकी अस्थियों का विसर्जन किया जा रहा है। उनकी अस्थि कलश यात्राएँ पूरे देश में निकाली जा रही हैं। इस दौरान कई अजीबो-ग़रीब फ़ोटो भी सामने आयी हैं। अटल जी के अस्थि विसर्जन के दौरान की एक ऐसी ही तस्वीर आजकल सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। जानकारी के अनुसार यह तस्वीर कहीं और की नहीं बल्कि दिल्ली की है।

तस्वीर के वायरल होने के पीछे है रहस्यमयी हाथ:

आपको बता दें दिल्ली में पर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अंजाम दिया। मजोज तिवारी ने कुछ लोगों के साथ नाव पर सवार होकर अटल जी की अस्थियों को यमुना में विसर्जित किया। इस दौरान की एक फ़ोटो जमकर वायरल हो रही है। अब आप सोच रहे होंगे कि अस्थि विसर्जन के दौरान की तस्वीर वायरल होने के पीछे आख़िर क्या वजह हो सकती है। आपको बता दें इस तस्वीर के वायरल होने के पीछे कुछ और नहीं बल्कि एक रहस्यमयी हाथ है।

मनोज तिवारी ने कहा कि वो भी इसे देखकर अचम्भित हैं:

आपको बता दें इस हाथ को मनोज तिवारी ने दैविय शक्तियों का कमाल बताया है। लेकिन सच्चाई कुछ और ही है। जानकारी के अनुसार मनोज तिवारी ने अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि विसर्जन कार्यक्रम के दौरान की कुल चार तस्वीरें शेयर की थी। इसमें से एक तस्वीर में कुछ बहुत ही अजीब दिखाई दे रहा था। इस में एकि रहस्यमयी हाथ पानी की तरफ़ निकला हुआ दिखाई दे रहा है। इसी वजह से यह तस्वीर सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है। इस तस्वीर के बारे में मनोज तिवारी का कहना है कि वह भी इस तस्वीर को लेकर अचम्भित हैं।

दैविय शक्तियों का कमाल नहीं बल्कि है फ़ोटोशॉप का कमाल:

मनोज तिवारी का कहना है कि में दैविय शक्तियों में विश्वास करता हूँ। यह फ़ोटो भी इशारा कर रही है कि यमुना को साफ़ रखना है। मनोज तिवारी के इस कथन की सच्चाई को जाँचने के लिए जब वायरल टेस्ट किया गया तो सच्चाई सामने आ गयी। दरअसल यह कोई दैविय शक्तियों का कमाल नहीं है बल्कि फ़ोटोशॉप का कमाल है। इस फ़ोटो में जिसका हाथ दिखाई दे रहा है, वह कोई और नहीं बल्कि भाजपा के नेशनल जनरल सेक्रेटरी अरुण सिंह का है। द लल्लान टॉप ने जब इस फ़ोटो की सच्चाई के बारे में पता लगाने के लिए अरुण सिंह के पीए को फ़ोन किया तो उन्होंने बताया कि तस्वीर फ़ोटोशॉप की गयी है।

हालाँकि उन्होंने इससे ज़्यादा कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। सोशल मीडिया पर भी कई यूज़र ने इस फ़ोटो को फ़ोटोशॉप बताते हुए कई कमेंट किए हैं। वहीं कुछ लोगों ने इस फ़ोटो को फ़ोटोशॉप बताते हुए सांसद और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी की जमकर आलोचना भी की है। लोग कह रहे हैं कि अस्थि विसर्जन कार्यक्रम की गम्भीरता को समझते हुए मनोज तिवारी को ऐसी फ़ोटो नहीं डालनी चाहिए थी। इसके अलावा दैविय शक्तियों के बारे में कहते हुए मनोज तिवारी ने इस फ़ोटो के फ़ोटोशॉप करने को झुठलानें की भी कोशिश की।