ब्रेकिंग न्यूज़

घाटी में सेना का सर्च अभिनयान ज़ोरों पर, सेना को मिली बड़ी कामयाबी

घाटी में कैसे हालात हैं, यह किसी को बताने की ज़रूरत नहीं है। घाटी में आए दिन आतंकियों की घुसपैठ होती रहती है। पाकिस्तान से आए आतंकी देश की सुरक्षा को ख़तरा पैदा करने के साथ ही यहाँ की शांति को भी भंग करने का प्रयास करते हैं। इसके साथ ही आतंकी सेना के जवानों पर छुपकर हमला भी करते हैं। आतंकियों की इसी हरकत की वजह से भारतीय सेना काफ़ी सतर्क हो गयी है। पिछले कुछ दिनों में सेना को काफ़ी कामयाबी मिली है। घाटी में आतंकियों के साथ ही कुछ उपद्रवी तत्व भी मौजूद हैं, जो शांति को भंग करने की कोशिश करते रहते हैं।

पाकिस्तान की नीतियों के बारे में देश का बच्चा-बच्चा अच्छे से जनता है। पाकिस्तान क्या चाहता है, यह बात भी किसी से छुपी हुई नहीं है। आज से ही नहीं बल्कि काफ़ी समय से पाकिस्तान की बुरी नज़र भारत के मुकुट यानी जम्मू-कश्मीर पर बनी हुई है। पाकिस्तान यह बात अच्छे से जानता है कि सीधे तौर पर कश्मीर को भारत से तो नहीं लिया जा सकता है, इसलिए पाकिस्तान हर रोज़ कोई ना कोई चाल चलता रहता है। पाकिस्तान बड़े स्तर पर अपने आतंकियों को भारत में यहाँ की शांति भंग करने के लिए भेजता है।

कई बार सीज फ़ायर का उलंघन कर चुकी है पाकिस्तानी सेना:

हालाँकि पाकिस्तान की यह चाल भी कामयाब नहीं हो पाती है। आतंकी यहाँ की शांति को भंग तो कर देते हैं, लेकिन अपने मंसूबों में पूरी तरह से कामयाब कभी नहीं हो पाते हैं। सीमा पर आए दिन पाकिस्तानी सेना गोलीबारी करती रहती है। सीज फ़ायर का उलंघन करना पाकिस्तानी सेना की आदत बन चुकी है। पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी का भारतीय सेना भी मुँहतोड़ जवाब देती है। जब सीधे तौर पर पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाता है तो वह अपने ट्रेंड आतंकियों को भारत भेजता है और घाटी के कुछ लोगों को पैसे के दम पर भारत के ख़िलाफ़ ही भड़काने का काम करता है।

घाटी की इन्ही परेशानियों से निपटने के लिए भारतीय सेना काफ़ी समय से अपनी कमर कस चुकी है। घाटी में सर्च अभियान भी काफ़ी तेज़ हो गया है। किसी-किसी दिन भारत को इसमें बड़ी सफलता भी मिल जाती है। इसी क्रम में भारतीय सेना को रविवार को बड़ी कामयाबी मिली। सुरक्षाबलों ने कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हांडवाडा में एक मुठभेड़ के दौरान चार आतंकियों को पकड़ने में सफलता पायी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें पकड़े गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोला, बारूद और हथियार ज़ब्त किया गया है।

जानकारी के अनुसार उत्तरी कश्मीर के हांडवाडा के चार और युवक आतंकी संगठन आल-बदर में शामिल हो गए। इसके साथ ही इसी साल अब तक कई स्थानीय युवकों ने आतंकी संगठनों को जॉइन किया है। इनकी संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। हिज़बुल मुजाहिदीन ने बारामुला में आदिल भाई उर्फ़ उमैर अल हिज़बी को नया कमांडर बनाया है। हिज़बुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन ने नए लड़कों की भर्ती, ओजीडब्ल्यू नेटवर्क तैयार करने और अनय आतंकी संगठनों के साथ समन्वय की ज़िम्मेदारी सौंपी है।

Related Articles

Close