मजेदार जोक्स: एक शराबी ने FM पर फोन किया शराबी- मुझे रोड पर एक पर्स मिला है जिसमें 15000 कैश

आजकल के इस स्ट्रेस भरी लाइफ में इंसान जैसे हंसना ही भूल गया है. वह काम में इतना मशगूल हो गया है कि खुद के लिए वक्त ही नहीं निकाल पाता. लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए. अगर आप खुद के लिए वक्त नहीं निकालेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब तरह-तरह की बीमारियां आपको अपने चपेट में ले लेंगी. इसलिए स्वस्थ रहने का पहला मंत्र यही है कि खुद के लिए थोड़ा समय निकालना और मन को प्रसन्न रखना. इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपके लिए ऐसे ही कुछ मजेदार जोक्स लेकर आये हैं, जो सोशल मीडिया बहुत वायरल हैं. तो देर किस बात की है, चलिए शुरू करते हैं हंसने हंसाने का ये खूबसूरत सिलसिला.

हाई स्कूल में पढ़ने वाली दो लड़कियां आपस में बातें कर रही थीं।

पहली लड़की- यार मेरे पापा ने कहा है कि इस बार अगर

परीक्षा में फेल हुई तो तेरी शादी कर दूंगा
दूसरी लड़की- तो तुमने कितनी तैयारी की है?
पहली लड़की- बस रिसेप्शन की ड्रेस लेनी बाकी है

अध्यापक- पप्पू तुम बहुत ज्यादा बोलते हो
पप्पू- ये हमारी खानदानी परंपरा है
अध्यापक- क्या मतलब है तुम्हारा?

पप्पू- सर, मेरे दादा जी एक फेरीवाले थे और मेरे पिताजी एक अध्यापक
अध्यापक- और अपनी मां के बारे में बताओ?
मतलब क्या है ? सर वो एक औरत हैं!!!!

दो छात्र रात में पढ़ते हुए
पहला- कितने बजे हैं यार?

दूसरा छात्र उठा और एक पत्थर सामने वाले ग‌र्ल्स होस्टल में दे मारा..
उधर से एक लड़की बाहर आई और बोली- कमीनो! अब तो

सो जाओ, रात के दो बज रहे हैं..।

Delhi वालों की नयी समस्या….
मेट्रो ट्रेन से उत्तर कर मिनी बस पकड़ो तो लगता है
जैसे गर्लफ्रेंड से मिल कर
वापस बीवी के पास पहुंच गए…

इंसान का दिमाग 24 घंटे काम करता है…!!

सिर्फ वह दो बार ही बंद हो जाता है..,,

पहला exam के समय

और दूसरा बीवी पसंद करते समय..

एक बार पप्पू की गर्लफ्रेंड ने उसे फ़ोन किया और उससे बोली, ” हेल्लो जानू,

मैं कल तुमसे मिलने नहीं आ सकती”

पप्पू- पर क्यों?

गर्लफ्रेंड- बस कुछ ज़रूरी काम है

पप्पू- ओह! चलो कोई बात नहीं, तो फिर मैं तुम्हारा गिफ्ट किसी और को दे देता हूं

गर्लफ्रेंड: जानू मेरा मतलब था, मैं कल नहीं आ सकती इसलिए

क्या हम आज मिल सकते हैं?

पिताजी ने पूछा- बेटा तू फेल कैसे हो गया?

बेटा बोला- पापा पेपर में सवाल ही ऐसे ऐसे आये थे जो मुझे पता नहीं थे

पिताजी- अच्छा…तो फिर तूने उत्तर कैसे लिखे?

बेटा- मैंने भी उत्तर ऐसे-ऐसे लिखे, जो मास्टर को भी पता नहीं थे.

अध्यापक- जो हमने कहानी पढ़ी है अब उसमे से में तुमसे कुछ सवाल पूछुंगा

चिंटू- जी सर, पूछिये

अध्यापक- तुमसे मिलकर ख़ुशी हुई, ऐसा किसने कहा ?

चिंटू- जी ख़ुशी के पापा ने, ख़ुशी की मम्मी से कहा