बुरा फंसे नवाज, कुर्सी जाना तय: पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने दिए जांच के आदेश

इस्लामाबाद/नई दिल्ली – पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नवाज शरीफ को तगड़ा झटका दिया है। इससे पहले कोर्ट ने नवाज शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों को इस मामले में नोटिस जारी किया था। कोर्ट ने मंगलवार यानि आज पनामा पेपर केस मामले में जांच का आदेश दिया है। पाकिस्तानी पीएम शरीफ के परिवार वालों पर भी पनामा मामले में भ्रष्टाचार का आरोप है। Panama Papers leaks Nawaz Sharif. 

 

नवाज क्यों सवालों के घेरे में –

दरअसल, नवाज शरीफ के खिलाफ दायर याचिका में यह मांग की गई है कि भ्रष्ट्राचार को लेकर नवाज शरीफ को अयोग्य करार दिया जाए। याचिका में कहा गया है कि पनामा पेपर्स से यह खुलासा हुआ है कि प्रधानमंत्री और उनके आश्रित लोगों ने विदेशों में कंपनियां खोल रखी हैं।  

आरोप है कि नवाज शरीफ के बेटों हुसैन और हसन के अलावा बेटी मरियम नवाज ने टैक्स का हैवन माने जाने वाले ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड्स में कम से कम चार कंपनियां शुरू की। शरीफ की फैमिली ने इन प्रॉपर्टीज को गिरवी रखकर डॉएचे बैंक से करीब 70 करोड़ रुपए का लोन लिया। इसके अलावा, दो अन्य अपार्टमेंट खरीदने में बैंक ऑफ स्कॉटलैंड ने मदद की।

 

ये है मामला –

आपको याद होगा कि अप्रैल में टैक्स बचाने के लिए दूसरे देशों में पैसा छिपाने के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा खुलासा हुआ। इस मामले में पनामा की लॉ फर्म के 1.15 करोड़ टैक्स डॉक्युमेंट्स लीक हुए। इन डॉक्युमेंट्स में व्लादिमीर पुतिन, नवाज शरीफ, शी जिनपिंग और फुटबॉलर मैसी द्वारा अपनी दौलत पर लगने वाले टैक्स को हैवन कहे जाने वाले देशों में जमा करने का जिक्र था। इन डॉक्युमेंट्स से अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय और डीएलएफ के प्रमोटर केपी सिंह जैसे बड़े भारतीय के नाम भी सवालों के घेरे में आए।

 

इमरान खान ने कहा – फेक अकाउंट की जानकारी दे नवाज (Panama Papers leaks)  –

पनामा पेपर लीक मामले पर क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने भी नवाज शरीफ पर जबरदस्त हमला बोला। उन्होंने एक सभा के दौरान कहा कि पनामा पेपर लीक मामले में नाम आने के बाद भला नवाज शरीफ दूसरे नेताओं को अपनी संपत्ति का खुलासा करने की बात कैसे कह सकते हैं।

उन्होंने पाक पीएम से यह भी पूछा कि वह बताएं कि उन्हें ऐसी क्या जरूरत थी जिसके चलते उन्होंने झूठा अकांउट खोला।   

Leave a Reply

Your email address will not be published.