स्वास्थ्य

इस बीमारी का शिकार हो रही है महिलाएं, कैल्शियम की कमी है मुख्य कारण, जानिए पूरी जानकारी

आजकल ज्यादातर व्यक्ति अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी सतर्क रहते हैं वह रोजाना अपने स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम भी करते हैं परंतु इन सबके बावजूद भी व्यक्ति को कोई ना कोई बीमारी लग ही जाती है, वैसे देखा जाए तो ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में देखने को मिल रही है यह एक हड्डी का रोग है जिसकी वजह से फैक्चर के बढ़ने की संभावना अधिक हो जाती है महिलाओं में यह समस्या 50 साल की उम्र के बाद हर तीन में से एक महिला में देखने को मिल रही है इस समस्या का मुख्य कारण कैल्शियम है कैल्शियम की कमी होने की वजह से यह बीमारी महिलाओं को शिकार बना रही है।

पुरुषों के मुकाबले महिलाएं जन्म से ही कमजोर होती है इसके साथ ही बढ़ती उम्र के साथ-साथ महिलाओं की हड्डियों का द्रव्यमान अधिक तेजी से समाप्त होता है जो इस रोग का मुख्य कारण बनता है हड्डियां, कैल्शियम फास्फोरस प्रोटीन और कई तरह के मिनरल्स से बनती है महिलाओं की अनियमित जीवनशैली और समय के साथ-साथ बढ़ती उम्र की वजह से यह मिनरल्स शीघ्र ही नष्ट हो जाते हैं और हड्डियों का घनत्व कम होने लगता है जिसकी वजह से महिलाएं कमजोर हो जाती है इसके अतिरिक्त कहीं ना कहीं डाइटिंग भी महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस की वजह है जब महिलाएं डाइटिंग करती हैं तो इससे महिलाओं के शरीर को पूरा पोषण प्राप्त नहीं हो पाता है जिसकी वजह से वह इस बीमारी का शिकार होती है।

जब महिलाएं ऑस्टियोपोरोसिस की बीमारी का शिकार होती है तो इसका मुख्य लक्षण रीढ़ कलाई और हाथों में दर्द, हड्डी में जल्दी से फैक्चर होना, बहुत जल्दी थक जाना, शरीर में बार बार दर्द होना, कमर में दर्द होना, हड्डियों और मांसपेशियों में दर्द होना, पीठ के निचले हिस्से में दर्द होना, मामूली सी चोट लग जाने पर फैक्चर होना है, अगर आप इस रोग से अपना बचाव करना चाहती है तो इसके लिए आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ आसान घरेलू उपाय बताने वाले हैं जिसका इस्तेमाल करके आप ऑस्टियोपोरोसिस रोग से अपना बचाव कर सकती हैं।

आइए जानते हैं ऑस्टियोपोरोसिस का घरेलू इलाज

नारियल का तेल

यदि आप नारियल तेल का सेवन करती है तो इससे आपकी हड्डियों का घनत्व बढ़ता है और इससे आपके शरीर में एस्ट्रोजन की कमी भी पूरी होती है आप इससे इस रोग से अपना बचाव कर सकते हैं इसलिए आप अपनी डाइट में नारियल तेल का सेवन अवश्य कीजिए।

बादाम का दूध

बादाम का दूध कैल्शियम से भरपूर होता है यदि आप बादाम वाले दूध का सेवन करती हैं तो इससे आपके शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है जो ऑस्टियोपोरोसिस रोग से बचने के लिए आवश्यक है इसके अतिरिक्त यदि आप बादाम का दूध पीती है तो इससे आपकी हड्डियों को आवश्यक पोषक तत्व जैसे मैग्नीशियम मैगनीज पोटेशियम भी प्राप्त होता है इसलिए आपको रोजाना एक गिलास बादाम का दूध अवश्य पीना चाहिए।

मछली का तेल

मछली के तेल के सप्लीमेंट में ओमेगा 3 फैटी एसिड कैल्शियम और विटामिन डी होता है जो हड्डियों के घनत्व को बढ़ाने में सहायता करता है यह मांसपेशियों को पहुंचने वाले नुकसान को भी कम करता है इसलिए आप अपनी डाइट में 1000 मिलीग्राम मछली के तेल के सप्लीमेंट अवश्य लीजिए।

धनिया के बीज

धनिया के बीज और पत्ते में मैग्नीशियम आयरन कैल्शियम पोटेशियम और मैंगनीज पोषक तत्व पाए जाते हैं आप धनिया के बीजों को गर्म पानी में उबालकर कुछ देर तक ढक कर रख दीजिए उसके पश्चात गुनगुना होने पर इसमें शहद मिलाकर इसका सेवन कीजिए इसके अलावा आप धनिया के पत्ते और बीजों का इस्तेमाल खाना बनाने के लिए भी कर सकते हैं।

 

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close