विशेष

पूर्व कप्तान कपिल देव को 36 साल बाद मिला पीएफ़ का पैसा, रकम सुन कर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे

हमारे भारत में क्रिकेट प्रेमियों की संख्या दिनों दिन बढती चली जा रही है. भले वो वर्ल्ड कप हो या फिर आईपीएल प्रीमियर लीग, हर ट्रॉफी भारतीय टीम अपने नाम करना चाहती है. समय के साथ साथ इस क्रिकेट टीम के पुराने खिलाड़ी रिटायरमेंट लेते जा रहे हैं और नए धुरंदर अपनी शानदार पारियों से रिकॉर्ड तोड़ते जा रहे हैं. लेकिन आज हम आपको 90 दशक के भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके कपिल देव के बारे में एक ऐसा राज़ बताने जा रहे हैं, जिसे वह आज तक दुनिया से छिपाते चले आए हैं. हालांकि उनके परिवार को उनके इस राज़ का हमेशा से पता था लेकिन, अब इस राज़ की पोल मीडिया में खुल चुकी है.

कपिल देव ऐसे जांबाज़ क्रिकेट प्लेयर रह चुके हैं, जिनके कारण भारत ने अपना पहला वर्ल्ड कप जीता था. तब से लेकर आज तक कपिल का नाम बहरत देश का हर बच्चा बच्चा जानता है. तो चलिए जानते हैं कपिल देव के राज़ के बारे में विस्तार से-


भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाने वाले कपिल देव का यह राज आपके पैरों तले से जमीन हिला कर रख देगा. कपिल ने यह सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उनका यह राज अचानक से सबके सामने आ जाएगा और उन्हें इस तरह से खुशी देगा. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि कपिल में क्रिकेट टीम में हिस्सा लेने से पहले एक कंपनी के लिए काम किया था. दरअसल वह कपिल मोदी स्पिनिंग एंड वीविंग मिल्स में लॉजिंग ऑफिसर की पोस्ट पर काम करते थे. यहां उन्होंने 1979 से लेकर 1982 तक काम किया और क्रिकेट में पांव रखने के बाद इस काम को अलविदा कह दिया.

36 साल बाद मिली ये खुशखबरी

हर कंपनी अपने अंदर काम करने वाले लोगों को उनकी तनख्वाह में से कुछ रकम काटकर प्रोविडेंट फंड के नाम पर रखती है जो कि उन्हें नौकरी छोड़ने के बाद दे दिया जाता है. कपिल की इस कंपनी ने भी 36 साल बाद आखिरकार अपना बकाया कपिल को चुका दिया है. बताया जा रहा है कि यह फंड लगभग 2.75 लाख रुपए का है जोकि चार दशक बाद अब जाकर कपिल को मिला है. हालांकि कंपनी के बिल 1994 में ही बंद हो चुकी थी लेकिन अभी भी यह कंपनी चालू है.

पुराने रिकॉर्ड चेक करने पर मिला फंड

कंपनी के ओनर ने बताया कि जब उन्होंने कंपनी में काम करने वाले पुराने लोगों के रिकॉर्ड चेक किए तो उन्हें पता चला कि कपिल देव का प्रोविडेंट फंड अभी तक उन्हें छुपाया नहीं गया है. जिसके बाद उन्होंने तुरंत कपिलदेव से संपर्क किया और उन्हें बकाया रकम ले जाने के लिए आग्रह किया. हालांकि कंपनी ने उन्हें इस जनवरी के महीने में ही सारी राशि झुका दी थी लेकिन इसके बारे में कपिल ने मीडिया को भनक तक नहीं लगने दी.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बताते चलें कि कपिल देव ने कई साल पहले क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. कपिल ने 1983 में भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलवाया था. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में कुल 225 वनडे मैच खेले जबकि इन मैचों में उन्होंने 3783 रन बनाएं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close