चुनरी बांधने मात्र से ही हो जाती है हर मनोकामना पूरी, जानिये इस अद्भुत मंदिर के बारे में

हमारा भारत वर्ष एक धार्मिक देश माना जाता है हमारे भारत में लगभग सभी धर्मों के लोग देखने को मिलते हैं और यह सब आपस में एक दूसरे के साथ भाईचारे से मिल जुल कर रहते हैं वैसे देखा जाए तो हमारे भारत में हिंदू धर्म के लोग सबसे अधिक हैं जो हिंदू धर्म पर विश्वास रखते हैं ऐसा माना जाता है कि हिंदू धर्म में करोड़ों देवी देवता हैं जिनकी सभी लोग अपनी श्रद्धा के अनुसार पूजा करते हैं हमारे देश में बहुत से मंदिर ऐसे हैं जो अपने चमत्कार के लिए प्रसिद्ध है और बहुत से मंदिर ऐसे हैं जो अपनी खासियत की वजह से दुनिया भर में जाने जाते हैं इन्हीं मंदिरों में से एक जगत जननी शक्ति की देवी माता दुर्गा का मंदिर है इस मंदिर के विषय में ऐसा बताया जाता है कि दुर्गा माता की आराधना करने वाले मनुष्य को अपने जीवन में कभी भी किसी प्रकार की कोई समस्या या परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।

लगभग सभी लोग इस बात को तो जानते ही होंगे कि हिंदू धर्म में पूजा पाठ को बहुत महत्ता दी गयी है परंतु पूजा पाठ करने मात्र से ही व्यक्ति को पूजा का फल प्राप्त नहीं हो पाता है पूजा करते समय मन में श्रद्धा और विश्वास का होना बहुत ही आवश्यक है जिसका मन साफ हो उसको पूजा का फल अवश्य प्राप्त होता है जिन व्यक्तियों के मन में किसी प्रकार का भेदभाव होता है तो उनकी पूजा स्वीकार नहीं होती है और उनको पूजा का कोई फल भी प्राप्त नहीं हो पाता है हमारे भारतवर्ष में हिंदू धर्म के बहुत से मंदिर स्थित है इन मंदिरों में से कुछ मंदिर काफी सालों पुराने हैं जिनके रहस्यो के बारे में किसी को कोई भी जानकारी नहीं है इन मंदिरों के अंदर बहुत से चमत्कार और राज मौजूद है जिसको जानने के बाद सभी लोगों को काफी हैरानी होती है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कानपुर के एक ऐसे प्राचीन मंदिर के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं जो काफी सालों पुराना है इस मंदिर का नाम बारा देवी मंदिर है इस मंदिर के विषय में ऐसा बताया जाता है कि यह मंदिर लगभग 1700 साल पुराना है कानपुर के दक्षिणी इलाके में स्थित बारा देवी का यह अद्भुत मंदिर काफी प्राचीन है।

खबरों के मुताबिक कानपुर के दक्षिणी क्षेत्र में ज्यादातर इलाकों के नाम बारा देवी के नाम पर ही रखे गए हैं इन इलाकों में बर्रा 01 से लेकर बर्रा 09 और बिन्गवा और बारासिरोही शामिल है इसके साथ ही बर्रा विश्व बैंक का नाम भी बारा देवी के नाम पर ही विख्यात है इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि लोग यहां पर अपनी मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए इस मंदिर में चुनरी बांधते हैं जिस व्यक्ति की मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं वह इस मंदिर में आकर यह चुनरी खोल देता है यह परंपरा सदियों पुरानी है और इस मंदिर पर व्यक्तियों का बहुत ही ज्यादा विश्वास देखने को मिलता है।

इस मंदिर की आश्चर्य करने वाली सबसे बड़ी बात यह है कि इस प्राचीन मंदिर के विषय में इसका रहस्य कोई भी नहीं जानता है इस मंदिर के व्यक्तियों के मुताबिक जब एएसआई टीम ने मंदिर का सर्वेक्षण किया था तो उन्होंने इस बात की जानकारी दी की मंदिर की मूर्ति लगभग 15 से 17 सौ साल पुरानी है इस मंदिर के पुजारी के मुताबिक इस मंदिर को लेकर एक कथा भी है एक बार अपने पिता से किसी बात पर मनमुटाव होने की वजह से उनके प्रकोप से बचने के लिए 12 बहनें एक साथ घर छोड़कर चली गई थी और यह सभी बहनें किदवई नगर में मूर्ति बनकर स्थापित हो गई थी यह बहने बाद में बारा देवी के नाम से प्रसिद्ध हुई ऐसा बताया जाता है कि बहनों के श्राप के कारण उनके पिता भी पत्थर में बदल गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.