कर्नाटक चुनाव: राहुल की बड़ी परीक्षा तो बीजेपी की साख दांव पर

कर्नाटक में वोटिंग खत्म होने में बस कुछ ही वक्त बचा हुआ है, ऐसे में धीरे धीरे उम्मीदवारों के किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद होता जा रहा है। यह चुनाव दो मायनों में बहुत ही खास बन गया है। वो भी इसलिए की अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी कोई बड़ा चुनाव लड़ने की जिम्मेदारी उठा रहे हैं, वो भी ऐसी जगह जहां कांग्रेस की सरकार है, ऐसे में राहुल के लिए यह एक बड़ी परीक्षा है, जिसे पास करने के लिए राहुल घर घर औऱ मंदिर मंदिर भी जाते दिखे। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

राहुल गांधी के कंधे पर कांग्रेस का पूरा भविष्य टिका हुआ है, जिसकी वजह से राहुल गांधी ने कोई भी कसर छोड़ने की गलती नहीं की। राहुल हर किसी से मिलते रहे। वोटिंग के दिन भी राहुल गांँधी लगातार बूथ अधिकारियों के संपर्क में रहे हैं। साथ ही बारिश से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए राहुल ने कार्यकर्ताओं को आदेश भी दिया। राहुल के लिए यह चुनाव जीतना बहुत जरूरी है, क्योंकि राहुल गांधी की किस्मत भी आज ईवीएम में कैद होने वाली हैं। तो वहीं बीजेपी की बात की जाए तो बीजेपी  के लिए यह चुनाव जीतना बहुत ही जरूरी है, क्योंकि 2019 से पहले एक बार फिर से मोदी लहर का ट्रेलर दिखाना चाहती है।

बीजेपी अपने वनवास को खत्म करना चाहती है, जिसकी वजह से बीजेपी सीएम उम्मीदवार बीएस ने वोट डालने के बाद अपनी जीत को पक्की करार देते हुए कहा कि 17 तारीख को मेरा शपथ ग्रहण समारोह है, जिसमें सभी को आना है। दरअसल, पीएम मोदी का चुनाव में प्रचार करना बीजेपी की जीत मानी जाती है, यही वजह है कि बीएस काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। तो वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार की बात करे तो उनका भी आत्मविश्वास कम नहीं है, क्योंकि उन्होंने अपने लिए खुद कैंपेन किया। बता दें कि राहुल गांंधी ने भले ही ताबड़तोड़ रैलियां की हो, लेकिन चेहरा हमेशा सिद्धारमैया ही रहे।

बताते चलें कि बीजेपी की मोदी लहर के सामने राहुल गांधी अपनी परीक्षा में सफल हो पाते हैं या नहीं ये तो वक्त ही बताएगा। लेकिन माना जा  रहा है कि बीजेपी कर्नाटक की सत्ता में आने की पूरी कोशिश करेगी, क्योंकि उसका कांग्रेस मुक्त भारत का सपना जो पूरा हो जाएगा, ऐसे में बीजेपी अगर किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला तो वो गठबंधन करके सरकार बनाने से भी पीछे नहीं हटेगी, जिसकी वजह से कांग्रेस को एक बार फिर से मुंह की खाकर्नी पड़ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.