आम की गुठली भी है सेहत के लिए लाभकारी, चमत्कारी फायदे जानकर रह जाएंगे दंग

‘आम के आम, गुठलियों के दाम’ बचपन ये कहावत बड़े बुजुर्गों से आपने जरूर सुनी होगी। उस वक्त भले न इसका कोई मतलब हमारे आपके समझ में नहीं आया हो, लेकिन सच ये है कि फलो का राजा आम खाने में जितना स्वादिष्ट होता है, उससे ज्यादा उसकी गुठली हमारे लिए राम बाण से कम नहीं है। लोग आम के स्वाद को लेकर उसकी गुठली फेंक देते हैं, लेकिन अगर उसके लाभ आप जान जाएंगे तो अगली बार गुठली फेंकने से पहले हजार बार सोचेंगे, क्योंकि गुठली है ही ऐसी चीज, तो आईए जानते हैं इस गुठली के फायदे।

फलों का राजा आम कुछ ही दिनों में बाजार में आने वाला है, आम की तमाम वैराइटी बाजार में आ जाएंगी। आम खाकर दूध पीने का लाभ सभी जानते हैं, लेकिन आम की गुठली के जो फायदे हैं, वो हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद हैं।

आम की गुठली सिर के जुओं के लिए बेहद फायदेमंद है। इसके लिए आम के पेड़ की सुखी छाल और आम की गुठली को सुखाकर उसे कूट ले और महीन पाउडर बना लें, गुठली के पाउडर में नींबू का रस मिलाकर सिर में लगाएं। कुछ ही दिनों में सिर के जुएं खत्म हो जाएंगे।

आम की गुठली पेट के रोगों के लिए भी लाभकारी है। गुठली, बील गिरी, मिश्री एक समान मात्रा में पीसकर दो चम्मच फांकने से पेट की बीमारियां ठीक हो जाती हैं। साथ ही दस्त और बवासीर के लिए भी फायदेमंद है।   आम की गुठली का पाउडर छाछ में मिलाकर पीने से बवासीर के मरीजों को आने वाला खून बंद हो जाता है।

आम की गुठली अगर चबाकर खाई जाए तो ब्लडप्रेशर खासकर चबाकर खाने से हाई ब्लडप्रेशर में आराम मिलता है। साथ ही गुठली दिल की बीमारियों में भी लाभदायक है। गुठली का पाउडर फांकने से दिल की बीमारी से भी लाभ मिलता है। इसके साथ ही ब्लड का प्रवाह भी सामान्य होता है।

दौड़ती भागती जिंदगी में लोगों में मोटापा बढ़ रहा है। नई उम्र के लोग भी फैट के चलते भारी भरकम पेट वाले हो जाते हैं। ऐसे में आम की गुठली का पाउडर काफी मददगार साबित हो सकता है। गुठली के पाउडर का सेवन करने से शरीर का फैट कम होता है। साथ ही वजन घटाने में भी मदद करता है। कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी संतुलित करता है।

आज लोग दांतों के दर्द और कीड़ों से परेशान है, मीठी चीजों को खा नहीं सकते। खासकर बच्चों के दांतों में खूब कीड़े लग रहे हैं। ऐसे में आम के सूखे पत्तों को जलाकर उसमें आम की गुठली बारीक पीसकर मिला लें। दोनों के पाउडर से रोज सुबह मंजन करें। कुछ ही दिनों में दांतों का दर्द जड़ से खत्म हो जाएगा। साथ ही दांतों का पीलापन दूर करके चमकदार बना देगा। दांतों को मजबूत और सांस की बदबू को भी दूर करेगा। इसके अलावा रोज आम के पत्तों को कुछ देर चबाकर थूकने से दांतों का हिलना और मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है।

आम की गुठली का तेल फैटी एसिड, मिनरल्स् और विटामिन्स से भरपूर होता है। इसका तेल घर पर भी निकाल सकते हैं। गंजापन दूर करने के लिए दस बारह आम की गुठलियों को सुखाकर पीस लें। उसमें नारियल तेल डालकर पका दें। इसको रोज एक महीने तक सिर पर लगाएं। इससे न सिर्फ बालों का झड़ना कम हो जाएगा। बल्कि बालों का सफेद होना भी रुक जाएगा।

 

error: Content is protected !!