स्वास्थ्य

अगर आप भी फ्रिज में रखे ठंडे पानी को पीने के शौक़ीन हैं तो हो जाएँ सावधान, ये पोस्ट ज़रूर पढ़ लें

जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि इन दिनों गर्मियों की शुरुआत हो चुकी है. ऐसे में जब भी हम किसी काम से घर से बाहर निकलते हैं तो घर पहुँचने से पहले ही प्यास के मारे हमारा हाल बुरा हो जाता है. ऐसे में  घर पहुँचते ही ठंडा पानी मिल जाए तो बात ही कुछ और है. गर्मियों में फ्रिज में रखा ठंडा पानी पीना हम सबका एकमात्र लक्ष्य होता है. बहुत से लोगों के अनुसार गर्मी के दिनों में जब तक उन्हें थोडा ठंडा पानी ना मिल जाए तब तक पानी पीने का मजा ही नहीं आता और ना ही उनकी प्यास बुझती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि फ्रिज में रखा ठंडा पानी पीकर आप ना केवल अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं बल्कि, भविष्य में बिमारियों को भी न्योता दे रहे हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको फ्रिज में रखे पानी के सेवन के कुछ ऐसे नुकसानों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें जानकर आपके होश उड़ना तय है.

हालांकि गर्मी के दिनों में फ्रिज में रखा ठंडा पानी पीने से हमें मन का सुकून मिलता है. परंतु आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह ठंडा पानी आपके दिल के लिए जरा भी अच्छा नहीं है. दरअसल हम जब भी ठंडा पानी पीते हैं तो इससे हमारे दिल की धड़कनें धीमी हो जाती हैं जिससे हार्ट जुड़ी कई बीमारियां हमें घेर लेती हैं. ठंडा पानी पीने से दिल की धड़कनों का कम होना कई बार हमारे लिए जानलेवा भी सिद्ध हो सकता है. इसका मुख्य कारण वेगस तंत्रिका का सिकुड़ना हो सकता है. वेगस तंत्रिका के सिकुड़ने से दिल की धमनियों पर सीधा असर पड़ता है जिससे दिल की गति धीमी हो जाती है.

ठंडा और गर्म पानी एक दूसरे के विपरीत काम करते हैं. जहां एक तरफ गर्म पानी पीने से हमारी पाचन प्रणाली सही तरतीब से चलती रहती है वहीं दूसरी और ठंडा पानी पीने से हमारा पाचन पूरी तरह से बिगड़ जाता है. इसका मुख्य कारण रक्त कोशिकाओं का सिकुड़ना है जो की पाचन क्रिया को धीमा बना देते हैं. अधिकतर लोग खाने के साथ या खाने के बाद पानी पीते हैं. ऐसे में ठंडा पानी खाने का अवशोषण नहीं कर पाता और शरीर के तापमान को संतुलित करने में जुट जाता है. जिससे हमारा पाचन तंत्र उल्टी तरह से काम करना शुरू कर देता है.

फ्रिज में रखा ठंडा पानी पीने से सबसे अधिक नुकसान शरीर के इम्यून सिस्टम पर पड़ता है. दरअसल ठंडा पानी हमारे शरीर में बीमारियों से लड़ने की क्षमता को खत्म कर देता है. ऐसे में हमारे गले में बलगम जमा हो जाता है, जिससे हम जल्दी सर्दी-जुकाम की चपेट में आ जाते हैं.

अक्सर आपने एक बात नोटिस की होगी कि हमारे घर के बड़े बुजुर्ग हमें ठंडा पानी पीने से होते हैं. ऐसा करने के पीछे उनकी एक खास वजह होती है. दरअसल बुजुर्ग लोग यह बात अच्छे से जानते हैं कि ठंडा पानी हमारे गले को प्रभावित कर सकता है. हम जब भी ठंडा पानी पीते हैं तो गले में पाया जाने वाला म्यूकोसा संकुचित हो जाता है और गला संक्रमण की चपेट में आ जाता है. जिसके चलते हमें खांसी, जुकाम आदि जैसी बीमारियां फैल लेती हैं.

आपने देखा होगा कि जब भी हम किसी मिठाई को फ्रिज में रखते हैं तो वह पहले से अधिक कठोर हो जाती है और बर्फ की तरह जमने लगती है. ठीक इसी प्रकार से ठंडा पानी हमारे भोजन को पेट में ही जमा देता है. जिससे मल पेट की बड़ी आंत में ही ठहर जाता है. ऐसे में बवासीर कब्ज जैसी बीमारियां होना आम बात है.

Back to top button