ब्रेकिंग न्यूज़

तेजस्वी का नीतीश पर वार, ‘आरएसएस के एजेंडे पर चल रही है सरकार’

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव नीतीश कुमार को आड़े हाथोंं लेना नहीं भूलते हैं। जी हां, तेजस्वी राजनीति में तब से ज्यादा सक्रिय हो गये हैं, जब से उन्हें बिहार के उपमुख्यमंत्री पद को छोड़ना पड़ा। इसके बाद नीतीश को धूल चटाने के लिए तेजस्वी एक भी मौका नहीं छोड़ते हैं, जिसकी वजह से तेजस्वी का नीतीश पर एक के बाद एक आरोप लगाते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसे में इस बार तेजस्वी यादव ने आरोप पत्र जारी करते हुए नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया है।

जी हां, तेजस्वी यादव ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार को लेकर एक आरोप पत्र जारी किया है, जोकि 72 पेजों का है। इन 72 पेजों पर तेजस्वी ने नीतीश पर आरोप लगाएं हैं। बता दें कि तेजस्वी ने नीतीश पर बीजेपी और आरएसएस के इशारों पर काम करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा तेजस्वी ने कहा कि अब नीतीश कुमार सिर्फ नीतीश ही नहीं रहे हैं, इनके नाम के आगे कुमार भगवा हो गया है, क्योंकि ये सारे काम भगवा के इशारो पर ही कर रहे हैं, जिसकी वजह से बिहार की जनता को काफी नुकसान सहना पड़ रहा है।

विकास पर बात करते हुए तेजस्वी ने कहा कि जिस तरह से नीतीश आरएसएस के एंजेंडे पर काम कर रही है, ऐसे में बिहार आगे नहीं बढ़ रहा  है, बल्कि पिछड़ रहा है, ये सब नीतीश सरकार की वजह से ही हो रहा है। इस दौरान नरेंद्र मोदी के विशेष पैकेज को लेकर भी नीतीश सरकार पर आरोप लगाया है। तेजस्वी ने आगे कहा कि इस बार नीतीश ने अपना रिपोर्ट कार्ड जारी नहीं किया, क्योंकि इनके पास कुछ है ही नहीं, कुछ काम किया होता, तो जारी करते न।

विशेष पैकेज को लेकर तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी वाले सिर्फ नीतीश को लालीपॉप देते रहे हैं, और नीतीश उनके जाल में फंस कर उनकी तरह ही हो गई है। यही वजह है कि नीतीश अब बीजेपी से विशेष पैकेज पर बात भी नहीं कर रहे हैं, जोकि सीधे सीधे बिहार की जनता के साथ धोखा हो रहा है। तेजस्वी ने आगे कहा कि बतौर सीएम नीतीश को आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू से कुछ सीखना चाहिए, ताकि बिहार को विशेष पैकेज मिल सके।

नीतीश पर आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि नीतीश को सिर्फ सत्ता का लालच है, यही वजह है कि कल तक जो अंतरात्मा की दुहाई देते थे, वो आज आरएसएस के एंजेंडे पर काम कर रहे हैं, तो क्या अब उनकी अंतरात्मा ने उन्हें कोस नहीं रही है? बहरहाल, तेजस्वी और नीतीश में आरोप प्रत्यारोप की लड़ाई तो थमने का नाम ही नहीं ले रही है।

 

Related Articles

Close