केजरीवाल का यू-टर्न, व्यापारियों ने कहा धोखेबाज हैं मुख्यमंत्री

बीते कुछ महीनों से दिल्ली में सीलिंग का विवाद चरम पर है। ऐसे में इस मुद्दे पे जमकर सियासत देखने को मिल रही है। इस बीच व्यापारियों के मसीहा बने केजरीवाल ने आंदोलन करने से मना कर दिया, जिसको लेकर अब विवाद फिर से शुरू हो गया। दरअसल, यह विवाद दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच मे जारी है, लेकिन इसमें भुगतना आम जनता को पड़ रहा है, ऐसे में पिछले कुछ दिन व्यापारियों ने दिल्ली बन्द का ऐलान भी किया था, जिसके बाद केजरीवाल ने उनसे बड़ा वादा किया था। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?
जी हाँ, सीलिंग को लेकर व्यापारी पूरी तरह से पस्त है, ऐसे में केंद्र सरकार से लड़ने के लिए उन्हें मुख्यमंत्री केजरीवाल का साथ मिला था, लेकिन केजरीवाल ने फिलहाल यू-टर्न ले लिया है, जिसकी वजह से व्यापारी समूह में नाराजगी देखने को मिल रही है। व्यापारियों की मांग है कि सीएम केजरीवाल इस्तीफा दें, क्योंकि केजरीवाल ने धोखा दिया है, ऐसे में उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। बता दें कि सीलिंग विवाद को लेकर केजरीवाल ने पीएम मोदी और राहुल गांधी को पत्र भी लिखा था, लेकिन केंद्र की तरफ से कोई सुझाव नहीं आया।
गौरतलब है कि केजरीवाल ने पत्र में केंद्र को धमकी दी थी कि अगर 30 तक कोई फैसला नहीं लिया गया तो वे खुद व्यापारियों के साथ भूख हड़ताल पर बैठेंगे, जिसके उन्हीने 31 मार्च की तारीख दी थी, ऐसे में अब उन्होंने फिलहाल हड़ताल से इनकार कर दिया, जिसकी वजह से व्यापारियों का गुस्सा फूट पड़ा है। व्यापारियों ने दिल्ली के सीएम केजरीवाल पर धोखेबाज होने का आरोप तो लगाया ही है, साथ मे उनसे इस्तीफे की भी मांग की है, जिसकी वजह से केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। दरअसल, केजरीवाल ने सीलिंग के खिलाफ होने वाले हड़ताल को फिलहाल के लिए रोक दिया है, लेकिन ये आंदोलन कब शुरू होगा, इससे पर्दा नहीं हटाया है।

व्यापारियों का आरोप है कि इस तरह से मुख्यमंत्री का पीछे हटना इसी तरफ इशारा करता है कि उन्हें हमारी कोई चिंता नहीं है, वो बस दिखावा करते हैं, ऐसे में अब हमें उन पे कोई भरोसा नहीं है। बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है, जब केजरीवाल अपनी बात से पलटे हैं, इससे पहले भी वो अपनी बात से एक नहीं कई बार भी पलट चुके हैं, ऐसे में देखना ये होगा कि केजरीवाल व्यापारियों का साथ कैसे देते हैं या फिर उन्हें किस तरह से मनाते हैं? ये तो खैर वक्त ही बताएगा, लेकिन इस समय हालात केजरीवाल के खिलाफ है!

इतना ही नहीं केजरीवाल पे व्यापारियों ने इल्जाम लगाते हुए कहा कि केजरीवाल का रुख शुरू से ही बनावटी का था, जोकि अब पूरी तरह से साफ हो गया है, उन्हें व्यापारियों से कोई लेना देना नहीं है, वो बस अपनी सियासत चमकाने में लगे हुए हैं, जोकि सरासर गलत है, ऐसे में मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए।