ब्रेकिंग न्यूज़

तेजस्वी का नीतीश पर हमला, ‘चौबे के बेटे को क्यों नहीं कर रहे हैं गिरफ्तार?’

बिहार में सियासत अपने चरम पर है। जी हां, भागलपुर दंगा को लेकर सियासी गलियारो की हलचले तेज हो चुकी है। ऐसे में अब राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर आरोप लगाती हुई नजर आ रही है। बता दें कि बिहार के विपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है। तेजस्वी ने कहा कि क्या अब नीतीश की अंतरात्मा को खत्म हो चुकी है, या नीतीश बीजेपी के साथ मिलकर उनके जैसे ही हो गये हैं। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास हैं?

तेजस्वी ने लालू का कार्यकाल याद दिलाते हुए कहा कि बिहार को बचाने के लिए लालू ने आडवाणी को जेल में डाल दिया था, लेकिन यहां तो नीतीश बिहार को बचाने के लिए केंद्रीय मंत्री के बेट को ही गिरफ्तार नहीं कर पा रहे हैं, ऐसे में क्या नीतीश बीजेपी से डर रहे हैं? या फिर उनकी अंतरात्मा ने सो चुकी है? बता दें कि लालू यादव इन दिनों चारा घोटाले के मामले में सजा काट रहे हैं, ऐसे में बिहार में आरजेडी की राजनीति तेजस्वी के कंधो पर आ चुकी है, लेकिन आरजेडी अध्य़क्ष लालू यादव ही हैं।

आपको बता दें कि भागलपुर दंगा को लेकर केंद्रीय मंत्री अश्विन चौबे के बेटे अर्जित के खिलाफ वारंट जारी हो चुका है, लेकिन वो पुलिस के हाथों नहीं आ रहे हैं। इतना ही नहीं, पुलिस को ठेंगा दिखाते हुए अर्जित न सिर्फ रैली निकालते हुए नजर आएं, बल्कि फेसबुक लाइव के जरिये भाषण भी दिया, जिसके बाद से ही बिहार में राजनीति अपने चरम पर है। ऐसे में तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए बिहार सरकार को आड़े हाथों लिया, लेकिन बिहार की नीतीश सरकार अभी तक अर्जित को अरेस्ट नहीं करवा पाई है।

जी हां, तेजस्वी ने ट्विट कर कहा कि लालू जी ने देश को सांप्रदायिक हिंसा से बचाने के लिए आडवाणी जी को गिरफ्तार किया था लेकिन बिहार को बचाने के लिए नीतीश जी से चौबे जी का लड़का गिरफ्तार नहीं हो रहा, और तो और ऊपर से ज्ञान बांट रहे हैं। बता दें कि अंतरात्मा की दुहाई देते हुए नीतीश कुमार आरजेडी से गठबंधन तोड़ दिया था, जिसके बाद अब तेजस्वी और आरजेडी बात बात पे नीतीश को अंतरात्मा के नाम पर व्यंग्य कसते हुए नजर आते हैं।

गौरतलब है कि  बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने 1990 में सोमनाथ से अयोध्‍या के लि‍ए रथ यात्रा नि‍काली थी, जिसकी वजह से बि‍हार के समस्‍तीपुर जि‍ले से गि‍रफ्तार कि‍या गया था, तो उस समय लालू यादव बिहार के मुख्यमंत्री थे। लालू ने आडवाणी पर माहौल बिगाड़ने का आरोप लगाया था, जिसकी वजह से उन्हें अरेस्ट किया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close