बच्चो में दिखे ये लक्षण तो तुरंत हो जाएं सावधान, क्यों की ये है बहुत बड़ी वीमारी के संकेत

आमतौर पर बच्चों में दिखने वाले कुछ लक्षणों को आप सामान्य ले लेते हैं, लेकिन कई बार आपका ये नजरअंदाज आपके बच्चे को गंभीर बिमारी की तरफ लेकर जाता है, जोकि उसके लिए खतरनाक हो सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि टीबी के लक्षण होते हैं, ऐसे लक्षण दिखते ही आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि बच्चों में किन लक्षणों को लेकर आपको सावधान होने की जरूरत होती है, क्योंकि ये लक्षण टीबी के भी हो सकते हैं। तो आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

टीबी का नाम सुनते ही आप घबरा जाते हैं, ऐसे में आपको अब घबराने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि अब इसका ईलाज हर सरकारी अस्पताल में बिल्कुल मुफ्त है। टीबी जैसे रोगों से लोग पहले इसलिए डरते थे, क्योंकि इसका कहीं कहीं ही होता था, ऐसे में  मरीज की हालत नाजुक हो जाती थी, और ईलाज में देरी होने की वजह से मरीज मौत के मुंह में भी चला जा सकता था, लेकिन पिछले कुछ सालों से सरकार इस बिमारी को लेकर काफी गंभीर दिखाई दे रही है, यही वजह है कि इसका ईलाज हर सरकारी अस्पताल में मौजूद है।

गौरतलब है कि ईलाज तो मौजूद है, लेकिन आपकी लापरवाही आपके बच्चे के लिए भारी पड़ सकती है, ऐसे में आपको उन लक्षणों का जानना बहुत जरूरी है, जो टीबी के तरफ संकेत करते हैं। औऱ इन लक्षणों को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। आपको पता ही होगा कि बच्चे अपनी तकलीफ को साफ नहीं बता पाते हैं, साथ ही छोटे छोटे शिशु तो बिल्कुल भी नहीं। तो चलिए आज हम आपको  टीबी के लक्षण बताते है, ताकि आप खुद और अपने बच्चे को इससे सुरक्षित रख सके।

बच्चों में टीबी के सामान्य लक्षण

तो चलिए अब जानते हैं कि बच्चों में टीबी के क्या क्या लक्षण है, ऐसे में देखते हैं कि इस कड़ी में क्या क्या चीजें शामिल है, जिसे जानकर आपको सतर्क रहना चाहिए।

1.लंबे वक्त से खासी आना

यूं तो बच्चों में खांसी की समस्या बहुत ही आम है, लेकिन अगर शुरूआत में सूखी खांसी हो और इसके बाद खांसी के बलगम और खून आने लगे तो आपको सावधान होने की जरूरत है, क्योंकि ये लक्षण टीबी के हो सकते हैं, ऐसे में आपको बच्चे के बलगम की जांच करानी चाहिए।

2.सांस लेने में दिक्कत

अगर बच्चों को सांस लेने की दिक्कत है, तो आपको  सावधान होने की जरूरत है, क्योंकि टीबी का कीटाणु बच्चों में तेजी से फैलता है, तो ऐसे में बच्चों सांस लेने की दिक्कत होने लगती है। अगर ऐसा दिखे तो आपको फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

3.बुखार आना

अगर बच्चा ज्यादा समय तक बिमार रहता है, तो यह भी लक्षण टीबी के हो सकते हैं। बता दें कि अगर बच्चे को ज्यादा समय तक बुखार हो या बार वो बुखार से पीड़ित हो तो आपको फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि टीबी का कीटाणु बच्चे के दिल में प्रवेश कर देता है, ऐसे में बच्चे को टीबी हो सकता है।

4.वजन घटना

अगर आपके बच्चे का वजन लगातार घट रहा है, तो ऐसे में आपको सावधान होने की जरूरत है। बता दें कि वजन घटना सेहत के लिए ठीक नहीं है, लेकिन अगर ये सामान्य से भी ज्यादा घट रहा है तो ये टीबी का लक्षण हो सकता है। इसके साथ ही आपके बच्चे को अगर हर समय सुस्ती छाई रहती है, तो आपको उसके बलगम की जांच करानी चाहिए। लेकिन किसी भी मामले में सावधानी न बरतना आपके लिए खतरा हो सकता है।

बच्चों में टीबी की जांच कैसे कराएं

टीबी की जांच के लिए बलगम औऱ खून का टेस्ट कराना चाहिए, इससे पता चल सकता है कि आपका बच्चा टीबी से पीड़ित है या नहीं। इसके अलावा सीने का एक्स-रे, थूक और स्किन की जांच कराएं, ये सभी टेस्ट सरकारी अस्पताल में निशुल्क है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.