यूपी चुनावः कांग्रेस को बड़ा झटका, यह दिग्गज कांग्रेसी नेता थाम सकती हैं भाजपा का दामन

नई दिल्ली: अगले साल  होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जी जान से लगी कांग्रेस को निकट भविष्य में उसकी प्रमुख नेता रीता बहुगुणा जोशी बड़ा झटका दे सकती हैं। यह चर्चा तेज है कि हाशिये पर धकेल दी गयी रीता बहुगुणा जोशी का कांग्रेस से मोहभंग हो चुका है और वे बहुत जल्द भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकती हैं। इस खबर से ब्राह्मण वोटों को जोड़ने की जुगत में लगी कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की बेचैनी बढ़ सकती है।

 

समाचार एजेंसी हिंदुस्थान न्यूज ने खबर दी है कि रीता बहुगुणा जोशी इन दिनों भारतीय जनता पार्टी के कई  नेताओं के संपर्क में हैं और निकट भविष्य में भाजपा में शामिल हो सकती हैं। रीता बहुगुणा जोशी ने पिछला लोकसभा चुनाव लखनऊ से भाजपा के राजनाथ सिंह के खिलाफ लड़ा था।

 

कांग्रेस की यूपी प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुकी हैं रीता –

 

67 वर्षीय रीता उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हेमवती नदंन बहुगुणा की बेटी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम विजय बहुगुणा की बहन हैं। वे कांग्रेस की यूपी प्रदेश अध्यक्ष और महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रह चुकी हैं। 2014 में उन्होंने लखनऊ से लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन वे हार गई थीं। राजनीति में आने से पहले वे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में हिस्ट्री पढ़ाती थीं। रीता बहुगुणा जोशी बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ विवादित बयान देने के लिए जेल भी जा चुकी हैं।

 

 

सीएम कैंडिडेट घोषित ना किये जाने से हैं क्षुब्ध –

 

रीता बहुगुणा कांग्रेस की बड़ी नेता हैं और वर्तमान में लखनऊ विधानसभा सीट से विधायक हैं। वह महिला कांग्रेस की अध्यक्ष उत्तरप्रदेश इकाई की भी अध्यक्ष रहीं हैं। चूंकि रीता बहुगुणा का उत्तर प्रदेश के बड़े राजनीतिक परिवार से संबंध रहा है और उनकी पकड़ भी प्रदेश की राजनीति में है, ऐसे में उन्हें यह उम्मीद थी कि जब पार्टी एक ब्राह्मण को सीएम उम्मीदवार घोषित करेगी तो उन्हें इसका फायदा मिलेगा।

 

पार्टी ने ब्राह्मण उम्मीदवार सीएम कैंडिडेट के लिए दिया भी, लेकिन वह दिल्ली से आयातित शीला दीक्षित हैं। पहले रीता बहुगुणा जोशी उत्तरप्रदेश कांग्रेस की प्रमुख चेहरा थीं, लेकिन अब सीएम कैंडिडेट के रूप में शीला दीक्षित व प्रदेश अध्यक्ष के रूप में राज बब्बर ही पार्टी के प्रमुख चेहरा हैं।

 

विजय बहुगुणा ने खबर को अफवाह बताया –

 

राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा तो बहुत दिन से चल रही है कि रीता बहुगुणा कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा में जा सकती हैं, लेकिन अभी तक इस बारे में रीता की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। हालांकि उनके भाई और कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए विजय बहुगुणा का यह कहना है कि यह खबर महज अफवाह है। उन्होंने एक क्षेत्रीय न्यूज चैनल से यह बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.