सीएम योगी ने लगाई अफसरों की क्लास, दिये सख्त निर्देश

उपचुनाव में करारी  हार के बाद अब सीएम योगी कोई ऐसा मौका नहीं छोड़ने के मूड में दिख रहे हैं, जिसकी वजह से बीजेपी को आगामी चुनाव में हार का सामना करना पड़े। जी हां, सीएम योगी ने यूपी के अफसरों के पेंच कसने के साथ ही उन्हें सख्त निर्देश दिये हैं। बता दें कि सीएम योगी अब एक्शन मूड में दिख रहे हैं, जिसकी वजह से उन्होंने कई अफसरों का तबादला भी कर दिया है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बताते चलें कि जहां एक तरफ कानून व्यवस्था को टाइट करने के लिए सूबे के मुख्यमंत्री योगी ने अफसरों का तबादला किया तो वहीं दूसरी तरफ अफसरों को सख्त निर्देश दिये। दरअसल, प्रदेश में इस समय बालू की समस्या है, जिसकी वजह से सरकार ने बालू  के दाम बढ़ाये थे। लेकिन सरकार को ये नहींं पता था कि बालू के दाम बढ़ने से जनता नाराज हो जाएगी, और इसका सीधा असर उपचुनाव में भी देखने को मिला। बता दें कि योगी हार के हर कारण को अब जीत में बदलने की कोशिश करते हुए नजर आ रहे हैं।

जी हां, सीएम योगी ने अफसरों की क्लास लगाते हुए  कहा कि प्रदेश में रूके सभी कामों को जल्दी जल्दी पूरा किया जाए, ताकि 2019 में एक बार फिर सूबे में मोदी लहर देखने को मिले। सीएम योगी ने अफसरों से कहा जितने भी टेंडर रूके हुए हैं, उन्हें पास कराके जल्दी से कामकाज किया जाए। इसके अलावा अफसरों को चेतावनी देते हुए बोले कि काम न करने वाले अफसरों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने लगाई अफसरों की क्लास, बालू-मौरंग के दाम घटाने का आदेश

अफसरो को फटकारते हुए सीएम योगी ने कहा कि 15 दिनों के  अंदर बालू-मौरंग के दाम घटा दिये जाए। तो वहीं  सीएम योगी ने आदेश के पालन के लिए 31 मार्च की समय-सीमा तय की है, जिसके अंदर ही बालू की कीमतों को घटाने का काम किया जाएगा। सीएम यही नहीं रूके उन्होंने आगे कहा कि मौरंग के दाम अभी 100 रुपये प्रति फीट से ऊपर हैं, इसे 60 से 70 रुपये फीट से ज्यादा नहीं होना चाहिए, ऐसे में संबंधित अधिकारी इस पर पूरा ध्यान दें।

एक तरफ सख्त निर्देश दिया तो वहीं दूसरी  तरफ कुछ अफसरों का तबादला कर दिया। तो वहीं गोरखपुर के लिए नया डीएम भी घोषित किया है। बता दें कि सीएम गोरखपुर को आगामी लोकसभा चुनाव में किसी भी हालत में जीतना चाहते हैं, यही वजह है कि उन्होंने अभी से वहां के अफसरों के पेंच कसने शुरू कर दिये हैं।