मुख्य समाचार

क्या सच में स्वामी रामदेव विदेशी ब्रैंड के जूते पहन कर बैठे थे गंगा तट पर? जानिए क्या है पूरा सच

रामदेव विदेशी ब्रैंड के जूते: बाबा रामदेव भारत के योग गुरुयों में से सबसे ऊपर माने जाते हैं. पिछले कईं सालों से स्वामी रामदेव भारतियों को योग के नए नए आसन सिखाते चले आ रहे हैं. मगर हाल ही में रामदेव की वायरल हुई एक तस्वीर ने पूरे सोशल मीडिया पर बवाल मचा दिया. दरअसल, “मेरा मन स्वदेशी, मेरा तन स्वदेशी ” का ज़िक्र करने वाले स्वामी रामदेव की एक तस्वीर इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है. बाकी सेलिब्रिटीज की तरह स्वामी रामदेव भी इंस्टाग्राम पर काफी एक्टिव रहते हैं. ऐसे में वह आए दिन अपनी कोई ना कोई तस्वीर शेयर करते ही रहते हैं.

रामदेव प्रोडक्ट्स  ब्रैंड “पतंजली:

बीती 7 मार्च को भी बाबा रामदेव ने अपनी एक तस्वीर इंस्टाग्राम पर अपलोड की थी. इस तस्वीर में रामदेव जी गंगा तट पर बैठे दिखाई दे रहे थे. मगर कुछ ही समय बाद उन्होंने अपनी वह तस्वीर वहां से हटा दी और उसको दोबारा क्रोप करके डाल दिया. जिसके बाद उस तस्वीर को लाखों लोगों ने शेयर किया. आपको हम बता दें कि बाबा रामदेव अक्सर विदेशी कम्पनियों की लूट से बचने के लिए भारत वासियों को स्वदेशी चीज़ें खरीदने पर जोर देते आए हैं. इसी कारण उन्होंने अपना खुद का देसी प्रोडक्ट्स  ब्रैंड “पतंजली” भी बनाया था.

विदेशी ब्रैंड के जूते:

मगर हाल में वायरल हुई तस्वीर ने रामदेव जी की स्वदेशी भावना पर कईं सवाल उठा दिए हैं. खुद को स्वदेशी कहने वाले स्वामी रामदेव ने जो तस्वीर शेयर की थी, वह गंगा के तट पर ली गई थी. इस तस्वीर के कैपशन में रामदेव ने लिखा- “माँ गंगा के तट पर”. तस्वीर देखने में एकदम साधारण दिखाई पड़ रही थी. इसमें स्वामी रामदेव ने हमेशा की तरह भगवा कपड़े पहन रखे थे. मगर तस्वीर के आकर्षण का केंद्र उनके पैरों में पहने हुए जूते थे. ये जूते ललछौं रंग के थे. गौरतलब है कि स्वदेशी की मिसाल बने रामदेव जी ने खुद विदेशी ब्रैंड के जूते पहने हुए थे. जिसको छिपाने के लिए उन्होंने उस तस्वीर को क्रॉप करके दोबारा पोस्ट किया.

तस्वीर को क्रॉप करने के बाद भी बाबा:

वहीँ स्वामी रामदेव को फॉलो कर रहे लोगों ने जब दोनों तस्वीरों को ज़ूम करके देखा तो उन्हें जूतों की हकीक़त पता चल गई. जिसके बाद उन्होंने बाबा की कमेंट्स में काफी आलोचना भी की. एक रिपोर्ट के अनुसार ये जूते Woodland कम्पनी के थे. हालांकि, इनपर मौजूद लोगो काफी धुंदला था. मगर इसके बावजूद भी बाबा के जूतों को छिपाने की कोशिश सबको थोड़ी अटपटी सी लगी. आपको ये जानकार हैरानी होगी कि तस्वीर को क्रॉप करने के बाद भी बाबा के जूतों के लेस छिपाने में वह नाकामयाब साबित हुए.

खड़ाऊं पहनने की सलाह:

बाबा रामदेव वैसे तो आए दिन अपने पतंजली ब्रैंड की प्रमोशन के चलते हर विज्ञापन में लोगों को विदेशों द्वारा की जा रही लूट से बचने के बारे में भाषण देते हैं. मगर इस तस्वीर का तो कुछ और ही कहना है. आपको हम बता दें कि जिस ब्रांड के जूते स्वामी जी ने इस तस्वीर में पहने हुए हैं, वह भी विदेशी हैं. खड़ाऊं पहनने की सलाह देने वाले रामदेव की ये तस्वीर उनके स्वदेशी और विदेशी भावना के दोहरेपन को साफ़ ज़ाहिर करती है.  यूँ कह लीजिए कि बाबा की एक गलती ने उनके स्वदेशीपन के ढोंग की पोल खोल दी है.

Related Articles

Close