शरीर में दिखने लगें ये संकेत तो हो जाइये सावधान, कहीं आपको भी तो नहीं हो रहा है ब्रेन ट्यूमर

ब्रेन ट्यूमर: आज के समय में लोगों ली लाइफस्टाइल बहुत तेजी से बदल रही है। लोगों ने अपने खान-पान के तरीकों से लेकर रहन-सहन के तरीकों में भी काफी बदलाव किया है। खान-पान के तरीकों में बदलाव का नतीजा यह हुआ है कि आज इंसान कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो चूका है। आज कुछ लोग जानलेवा बिमारियों से घिरे हुए हैं, जिससे किसी भी पल उनकी मृत्यु हो सकती है। पहले के जमाने में लोगों का खान-पान पोषण से भरा और शुद्ध होता था, इस वजह से उनकी आयु भी ज्यादा हुआ करती थी।

ब्रेन ट्यूमर होता है कई शेप और साइज का:

आज समय से पहले ही व्यक्ति कई रोगों की चपेट में आ जा रहा है। इन्ही में से एक सबसे खतरनाक रोग हैं ब्रेन ट्यूमर। आपको बता दें ब्रेन ट्यूमर कई शेप और साइज का होता है और ठीक इसी तरह इसके लक्षण भी होते हैं। मशहूर न्यूरो सर्जन थियोडोर का कहना है कि ब्रेन ट्यूमर के संकेत ट्यूमर की लोकेशन पर भी निर्भर करता है। उदाहरण के लिए अगर आपका ट्यूमर ब्रेन के पास है तो वह आर्म और ऑयशॉट को नियंत्रित करता है।

अगर आपको आए दिन सिर दर्द की शिकायत रहती है जो दवा खाने से ठीक हो जाती है लेकिन फिर उभर आती है तो सावधान हो जाएं, क्योंकि ये लक्षण ब्रेन ट्यूमर की सबसे शुरुआती स्टेज के भी हो सकते हैं। ब्रेन ट्यूमर एक खतरनाक बीमारी है। अगर सही समय पर इस बीमारी का पता चल जाए तो इससे बचाव संभव है। इलाज में देरी होने पर ये जानलेवा हो सकता है और इससे मानसिक विक्षिप्तता भी आ सकती है। ब्रेन ट्यूमर की स्थिति में दिमाग में बहुत सी कोशिकाएं या कोई एक कोशिका असामान्य रूप से बढ़ती रहती है जिसके कारण अन्य कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होती रहती हैं। कई बार ब्रेन ट्यूमर अनुवांशिक भी हो सकता है और कई बार रेडिएशन में ज्यादा रहने या केमिकल के संपर्क में रहने से भी ये रोग हो जाता है।

ब्रेन ट्यूमर को उसके शुरुआती लक्षणों से पहचाना जा सकता है इसलिए इन लक्षणों को आपको भी जानना चाहिए।

अचानक से चमकती है आपने ब्रेन में बिजली:

इससे व्यक्ति को धुंधला दिखने के साथ ही उसके जोड़ों में दर्द होने लगता है। लेकिन जानकार डॉक्टर्स के अनुसार कुछ ऐसे भी लक्षण हैं जिनसे इस खतरनाक बिमारी को आसानी से पहचाना जा सकता है। किसी भी तरह के ब्रेन ट्यूमर का सबसे पहला संकेत सीजर होता है। इसकी वजह से अचानक से ब्रेन में बिजली जैसी चमकती है और चक्कर आते हैं। इसमें कई बार आपका पूरा शरीर अकड़ जाता है तो कभी झटके लगते हैं। कई बार व्यक्ति का शरीर अचानक से झुक या मुड़ भी जाता है। इसके साथ ही इन लक्षणों को देखकर आप आसानी से ब्रेन ट्यूमर का पता लगा सकते हैं।

पहचाने ये लक्षण:

सिर दर्द

सिर दर्द ब्रेन ट्यूमर का सबसे पहला और सामान्य लक्षण है। ब्रेन ट्यूमर होने की स्थिति में पहले पहल दर्द ज्यादातर सुबह होता है और बाद में यह लगातार होने लगता है। ये दर्द कई बार इतना तेज होता है कि इंसान अपना मानसिक संतुलन भी खो सकता है। अगर आपको लगातार सिर में दर्द की शिकायत रहती है, तो चिकित्सक से मिलकर तुरंत इसकी जांच कराएं।

*- शरीर के किसी हिस्से का अचानक से सुन्न पड़ जाना:

कई बार व्यक्ति के शरीर ये चेहरे के कुछ हिस्से अचानक से सुन्न पड़ जाते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा हो तो इसे भूलकर भी नज़रअन्दाज ना करें। ब्रेन के किसी भी हिस्से पर ट्यूमर होने की वजह से ऐसा होता है।

*- बार-बार उल्टी आना या जी मचलाना:

कई बार बार-बार उल्टी होने लगती है और अगर उल्टी नहीं होती है तो उल्टी करने का मन करता है पर होती नहीं है। जी मचलाने लगता है। अगर ऐसा हो रहा है तो समझ जाइये कि आप भी ब्रेन ट्यूमर के शिकार हो चुके हैं।

*- भूलने की बिमारी:

अगर आपको कोई चीज याद नहीं रहती है, या आप अपने आपको सँभालने के लिए भी संघर्ष कर रहे हैं तो आपको सावधान होने की जरुरत है। इसके साथ ही अगर आपको बोलने या निगलने में कोई परेशानी होती है या आपके फेशियल एक्सप्रेशन में बदलाव हो रहे हों तो आप तुरंत डॉक्टर से मिलें।

*- दृष्टि का बदल जाना:

अचानक से ही किसी भी चीज का धुंधला दिखाई देना या किसी चीज का डबल दिखाई देना भी ब्रेन ट्यूमर का संकेत होता है। इसलिए ऐसा होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ और जाँच करवाएं।

चिड़चिड़ापन और स्वभाव परिवर्तन

ब्रेन ट्यूमर की वजह से सिर्फ हमारे शरीर के अंगों की क्रिया और मानसिक क्रिया ही नहीं प्रभावित होती, बल्कि इससे हमारे स्वभाव पर भी असर पड़ता है। अगर ये ट्यूमर फ्रन्टल लोब में पहुंच जाता है तो व्यक्ति के व्यवहार में परिवर्तन आने लगता है। वो अपने व्यवहार पर नियंत्रण नहीं रख पाता है और चिड़चिड़ापन या उदासी उसे घेर लेती है।

सुनने में समस्या होना

ब्रेन ट्यूमर जब व्यक्ति के टैंपोरल लोब में पहुंच जाता है तो इससे सिर्फ बोलने की क्षमता नहीं प्रभावित होती, बल्कि इससे व्यक्ति को सुनने में भी परेशानी होने लगती है। कई बार तो ऐसा महसूस होता है जैसे कान का पर्दा फट गया हो।

हाथ-पैरों में ऐंठन

ट्यूमर सेल्स का प्रवेश जब पैराइटल लोब में होने वाला होता है तब ऐसी स्थिति आ जाती है जिसमें अचानक से व्यक्ति के हाथ-पैर अकड़ने लगते हैं। उसे ऐसा महसूस होने लगता है जैसे कि उसके शरीर के सभी अंग निष्क्रिय हो रहे हैं। ये पैरालिसिस से पहले की स्टेज है।

इन में से कोई भी लक्षण हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.