इस तरीके से आप आसानी से यह जान सकते हैं कि जीवन में आप कभी धनवान बनेंगे या नहीं

जीवन में कब धनवान बनेंगे: आज के इस आर्थिक युग में कौन ऐसा व्यक्ति होगा जिसे पैसे की चाहत नहीं होगी। हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसके पास बेशुमार दौलत हो और वह जीवन में जो भी चाहे वह कर पाए। लेकिन यह एक सच्चाई है कि केवल चाहने भर से ही सबको सबकुछ नहीं मिल जाता है। केवल अमीर बनने की चाहत रखने से ही कोई व्यक्ति अमीर नहीं बन पाता है। कई बार लोग अमीर बनने के लिए जीवन में खूब मेहनत करते हैं।

ज्यादा वक़्त नहीं लगता है व्यक्ति को अमीर बनने में:

पैसे कमाने के चक्कर में दिन-रात में फर्क भूलकर बस अपने काम पर ध्यान देते हैं। इसके बाद भी कुछ लोगों को सफलता नहीं मिल पाती है और वह जीवनभर गरीब ही रह जाते हैं। ऐसे में व्यक्ति को समझ में नहीं आता है, कि उसने क्या गलती की है, जिसकी वजह से उसे गरीबी का सामना करना पड़ रहा है। अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है तो आप यह बात जान लीजिये कि इसमें आपकी कोई गलती नहीं है। कई बार व्यक्ति की कुंडली ही उसका साथ नहीं देती है। अगर कुंडली साथ देने लगे तो व्यक्ति को अमीर बनने में ज्यादा वक़्त नहीं लगता है।

जीवन में कब धनवान बनेंगे व्यक्ति के जन्म के समय ही होता है कुंडली में लग्न का निर्धारण:

जीवन में कब धनवान बनेंगे अगर ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बात की जाये तो कुंडलियाँ अलग-अलग लग्नों के आधार पर 12 प्रकार की होती है। कुंडली के लग्नों के नाम इस प्रकार हैं- मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ और मीन। आपको बता दें किसी भी व्यक्ति के जन्म के समय ही उसकी कुंडली का लग्न निर्धारित होता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर किसी व्यक्ति की कुंडली का लग्न मीन हो तो उस व्यक्ति के जीवन में क्या-क्या होने वाला है। वह कभी अमीर बन पायेगा या नहीं, इसका भी पता चल सकता है।

जिनकी कुंडली में मीन लग्न होता है, उनके साथ होता है यह:

*- ऐसा माना जाता है कि मीन लग्न की कुंडली के 12वें भाव में अगर शुक्र हो तो यह बिलकुल भी शुभ नहीं होता है। इसकी वजह से व्यक्ति जीवन में कर्जदार हो जाता है।

*- अगर इसी लग्न की कुंडली के 12वें भाव में चन्द्र हो तो उस व्यक्ति का जीवन बड़ा ही सामान्य बना रहता है।

*- आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि अगर आपकी कुंडली मीन लग्न की है और इसके 11वें भाव में मंगल है तो व्यक्ति जीवन में बहुत धनवान बनता है। ऐसे लोगों को जीवन में हर सुख-सुविधा की प्राप्ति होती है।

*- अगर कुंडली के 12वें भाव में शनि है तो इसे भी बहुत शुभ माना जाता है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति को बहुत मान-सम्मान मिलता है।

*- ऐसा माना जाता है कि अगर लग्न भाव में शुक्र हो तो व्यक्ति की उम्र लम्बी होती है। लग्न में मौजूद शुक्र की वजह से व्यक्ति कई बार गलत आदतों का भी शिकार हो जाता है।

*- अगर व्यक्ति की कुंडली के मीन लग्न के 8वें भाव में में बुध हो तो उस व्यक्ति को पिता सुख से वंचित रहना पड़ता है।

*- लग्न भाव में बुध अकेला हो तो व्यक्ति को अपने पिता से दूर रहता है।

*- अगर मीन लग्न के सप्तम भाव में बुध हो तो व्यक्ति को महिला का सुख कम उम्र में ही मिलने लगता है।

*- मीन लग्न के 5वें भाव में मंगल होता है तो उस व्यक्ति को अपने जीवनसाथी की वजह से जीवन में परेशानियाँ झेलनी पड़ती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.