विशेष

यह जानने के बाद पाकिस्तान के परमाणु हमले की धमकी का डर आपके मन से हमेशा के लिए निकल जायेगा!

जबसे भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में दरार आयी है और पाकिस्तान से युद्ध होने की सम्भावना बन रही है, तबसे सबके मन में एक ही डर बैठा हुआ है कि अगर पाकिस्तान ने भारत पर पहले ही परमाणु हमला कर दिया तो क्या होगा भारत का। तो हम आपको बताना चाहेंगे कि आप डरना छोड़ दीजिये क्योंकि पाकिस्तान से आपका ये डर बेबुनियाद है। पाकिस्तान के परमाणु हमले से बचने के लिए भारत के पास बहुत सारे उपाय हैं। भारत का बैलेस्टिक इंटरसेप्टर मिसाइल डिफेंस सिस्टम यानी मल्टी लेयर रक्षा कवच (defence mechanism) किसी भी तरह के परमाणु हमले को झेलने के लिए बनाया गया है और यह पूरी तरह से तैयार है। आइये हम आपको कुछ ऐसी बातें बताते हैं जिन्हें जानकर आपके मन से पाकिस्तान के परमाणु हमले का डर हमेशा के लिए निकल जायेगा।

indian antinuclear

सोर्डफिश  (defence mechanism)-

*- सोर्डफिश यह भारत का सबसे आधुनिक लम्बी दूरी तक की चीजों को पहचानने वाला राडार है। अगर पाकिस्तान परमाणु हमला करता है तो यह राडार भारत के लिए सबसे बड़ा हथियार साबित होगा, जिससे पाकिस्तान का हमला नाकाम किया जा सकेगा ! इसे लम्बी दूरी की बेलिस्टक मिसाइलों से निपटने के लिए बनाया गया है। सोर्डफिश में उन्नत राडार और सैटेलाइट का प्रयोग किया जाता है।

*- भारत पर परमाणु हमला करने के लिए पाकिस्तान के पास केवल गजनी गौरी शाहीन और हत्फ मिसाइले हैं। भारत के पास जो राडार है उसके ज़रिये 5 हजार किलो मीटर दूर से आ रही किसी भी मिसाइल को देखा जा सकता है और उस पर तुरंत ही इंटरसेप्टर मिसाइल से हमला करके दुश्मन की मिसाइल को हवा में ही नष्ट किया जा सकता है।

बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली (बीएमडी) (defence mechanism)-

*- भारत की बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली (बीएमडी) का निर्माण चीन की डोंगफोंग व जुलेंग मिसाइलों और पाकिस्तान की हत्फ श्रेणी की मिसाइलों से टक्कर लेने के लिए किया गया है। यह अमेरिका की पैट्रियाट पैक-3 मिसाइल सिस्टम से कही बेहतर भी है। यह बहुत ही सटीक मार करती है, बॉल से कम आकार का भी लक्ष्य मिलने पर यह आसानी से उसपर निशाना लगा सकती है।

एडवांस एयर डिफेंस (एएडी) बैलेस्टिक मिसाइल (defence mechanism)-

*- एडवांस एयर डिफेंस (एएडी) बैलेस्टिक मिसाइल इंटरसेप्टर को पूरी तरह से स्वदेशी तकनीक का प्रयोग करके भारत में ही बनाया गया है। अश्विन बैलेस्टिक मिसाइलों का प्रयोग इसमें इंटरसेप्टर के रूप में किया जाता है। यह कम ऊँचाई पर आ रही दुश्मन की मिसाइल को ध्वस्त करने में माहिर है।

पृथ्वी एअर डिफेंस प्रणाली (पीएडी) मिसाइल  (defence mechanism)-

defence mechanism

*- भारत की पृथ्वी एअर डिफेंस प्रणाली (पीएडी) मिसाइल डिफेंस तकनीक में प्रद्युमन बैलेस्टिक मिसाइल का प्रयोग इंटरसेप्टर के रूप में किया जाता है। यह हाई सुपरसोनिक एंटी बैलेस्टिक मिसाइल है, जिसकी रफ़्तार दुश्मन की मिसाइल से कई गुना तेज है। यह दुश्मन की मिसाइल को 50- 80 किलोमीटर दूर ही ख़त्म कर देती है।

मिसाइल पीएडी को चकमा देने में सक्षम नहीं  (defence mechanism)-

*- दुश्मन की मिसाइल पीएडी को चकमा देने में सक्षम नहीं है, क्योंकि इस मिसाइल में इंटरसेप्टर के लिए अत्याधुनिक होमिंग व टेकिंग के लिए राडार और सुरक्षित डाटा लिंक की सुविधा के साथ विकसित किया गया है। यह दुश्मन की किसी भी मिसाइल का पीछा बड़ी आसानी से कर सकती है।

ग्रीनपाइन राडार भारत का लम्बी दूरी वाला राडार सिस्टम (defence mechanism)-

*- ग्रीनपाइन राडार भारत का लम्बी दूरी वाला राडार सिस्टम हैं। भारत ने इसको इजराइल से ख़रीदा हुआ है। इजराइल ने अपने युद्ध के दौरान इसी तरह की प्रणाली का प्रयोग करके दुश्मन पर विजय पायी थी। इजराइल के पास ऑयरन डोम रक्षा प्रणाली है जो हमास और इजराइल के बीच लड़ाई के दौरान काफी कारगर साबित हुई थी। इजराइल ने इसी की मदद से गाजा पट्टी से दागी गयी 300 मिसाइल को मार गिराया था।

defence mechanism

*- मिसाइल डिफेंस तकनीक का विकास अभी तक कुछ ही देशों ने किया है। अमेरिका रूस और इजराइल के बाद भारत चौथा देश है जिसके पास यह तकनीक है।

अग्नि मिसाइल (defence mechanism)-

*- भारत के पास अग्नि मिसाइल की पूरी रेंज हैं जो युद्ध के समय पाकिस्तान की लंबी दूरी की मिसाइलों के ठिकानों को नष्ट करने में पूरी तरह से सक्षम है। इस तकनीक के जरिये भारत पाकिस्तान को धूल चटाने की क्षमता रखता है।

defence mechanism

*- भारत के पास बहुत सारे साधन उपलब्ध हैं अगर पाकिस्तान भारत के सभी परमाणु ठिकानो को ख़त्म कर देता है तो भारत अपनी पनडुब्बियों के जरिये पाकिस्तान पर परमाणु हमला कर सकता है। पाकिस्तान के पास इस तरह की कोई पनडुब्बी नहीं है जो भारत का सामना कर सके।

भारत के बारे में इतना सब जानने के बाद भी अगर आप पाकिस्तान से डरते हैं तो इसका कुछ नहीं किया जा सकता है। लेकिन यह सच है कि भारत का बाल भी बांका करने की क्षमता पाकिस्तान में नहीं है। अगर पाकिस्तान परमाणु युद्ध करता है तो उसे मुंह की खानी पड़ेगी।

Back to top button