अखिलेश यादव का सरकार पर बड़ा व्यंग्य ‘हुनर लेकर खाली बैठे युवा हमारे साथ आएंगे’

उत्तर प्रदेश: सूबे में लोकसभा चुनाव को लेकर समाजावादी पार्टी में हलचलें तेज हो चुकी है। जी हां, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार के साथ साथ मोदी सरकार पर भी सीधा वार किया। बता दें कि रोजगार के मुद्दे पर केंद्र सरकार को चौ-तरफा आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में मोदी सरकार के लिए आगामी लोकसभा चुनाव में अपना दबदबा बनाये रखना सबसे बड़ी चुनौती है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर अखिलेश यादव ने कमर कस ली है। यही वजह है कि अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं को सख्त निर्देश दिया है कि वो जमीनी स्तर पर समाजवादी पार्टी को एक बार फिर से मजबूत करे, जिसके लिए कार्यकर्ताओं को जमीनी स्तर से जुड़ना पड़ेगा। बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए जहां सरकार के सामने युवाओं को अपनी तरफ खींचने की चुनौती है तो वहीं दूसरी तरफ विपक्ष पार्टियों के पास एक पसंदीदा चेहरे की चुनौती है।

रोजगार मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि जो युवा हुनर लेकर खाली बैठे हैं, वो हमें मजबूत बनाएंगे। बता दें कि अखिलेश ने साफ तौर पर भले ही सरकार पर हमला नहीं किया हो, लेकिन उन्होंने इशारों ही इशारों में सरकार को रोजगार के मुद्दे पर घेरा है। बताते चलें कि इस दौरान अखिलेश यादव पार्टी को मजबूत बनाने के लिए कई तरह के दांव खेलते आ रहे हैं, जिसमें से एक ये है कि अखिलेश सरकार को मुद्दे पर घेर रहे हैं, जोकि विपक्षीय पार्टियों का सबसे मजबूत हथियार माना जाता है।

अखिलेश का बड़ा दावा, युवा आएंगे साथ

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हुनर लेकर खाली बैठे हुए युवा बदलाव करेंगे, जिसके लिए युवा हमारे साथ आएंगे। बताते चलें अखिलेश यादव ने ये भी कहा कि युवा हमारे साथ आएंगे तो उन्हें काम मिलेगा, वो खुद को निखार और संवार सकेंगे। मतलब साफ है कि अखिलेश ने युवा पीढ़ी को लुभावने के लिए इशारों ही इशारों में नौकरी देने की बात कह डाली है। जी हां, अखिलेश ने एक तीर से दो निशाना लगाया है।

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सरकार पर निशाना साधते हुए युवाओं को अपनी तरफ खींचने की कोशिश की है। बताते चलें कि अखिलेश लोकसभा में ज्यादा से ज्यादा सींटे जीतना चाहते हैं, ताकि वो अपनी छवि एक बार फिर से यूपी में मजबूत बना सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.