मधुबाला की खूबसूरती देखकर पागल हो गया था यह डॉन, मधुबाला ना मिली तो खोज निकला हमशक्ल

मुंबई: बॉलीवुड की दुनिया चमक-धमक से भरी होती है, इसके बारे में सभी लोग जानते हैं। इस दुनिया की चमक-धमक देखकर कई लोग इसकी तरफ खींचे हुए चले जाते हैं। यहाँ की चमक केवल आम आदमी को ही नहीं बल्कि अंडरवर्ल्ड डॉन को भी अपनी तरफ आकर्षित कर चुकी है। जी हाँ बॉलीवुड और अंडरवर्ल्ड का बहुत ही पुराना रिश्ता है। बॉलीवुड की खूबसूरती के आगे कई अंडरवर्ल्ड डॉन ने अपना दिल खोया है। हालाँकि कुछ को इसमें सफलता मिली जबकि कुछ को ऐसे ही संतोष करना पड़ा। आज भी कायल हैं लोग मधुबाला की खूबसूरती के:

आज भी कायल हैं लोग मधुबाला की खूबसूरती के:

हालाँकि जिस तरह से इस दुनिया में सभी लोग एक जैसे नहीं होते हैं, ठीक उसी तरह से सभी डॉन भी एक तरह नहीं थे। आज हम आपको एक ऐसे अनोखे डॉन के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे एक बॉलीवुड अभिनेत्री से प्रेम हो गया। वह बॉलीवुड अभिनेत्री की खूबसूरती पर इस कदर मर मिटा कि उस अभिनेत्री के ना मिलने पर उसकी हमशक्ल ढूंढ लाया। बॉलीवुड अभिनेत्री मधुबाला की खूबसूरती के बारे में किसी को कुछ बताने की जरुरत नहीं है। मधुबाला की खूबसूरती के आज भी लोग कायल हैं।

पागलों की तरह दीवाना था हाजी मस्तान:

मधुबाला इस दुनिया को मात्र 36 साल की उम्र में ही छोड़कर चली गयी। उनकी खूबसूरती की तुलना आज भी की जाती है। मधुबाला इतनी खुबसूरत थी कि उस समय उनके कई दीवाने थे। उसी में से एक था उस समय का अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान। हाजी मस्तान के बारे में कहा जाता है कि उसे मधुबाला से एकतरफा प्रेम था। केवल यही नहीं हाजी मस्तान मधुबाला के लिए पागलों की तरह दीवाना था। हाजी मस्तान की दीवानगी इस कदर थी कि वह मधुबाला से शादी करके अपना बनाना चाहता था।

पहली बार देखा था अपनी प्रोडक्शन हाउस की फिल्म में:

हालाँकि हाजी मस्तान मधुबाला से अपने प्यार का इज़हार कर पाता इससे पहले ही मधुबाला इस दुनिया को छोड़कर चली गयी। मधुबाला की मौत के बाद हाजी मस्तान को बहुत गहरा धक्का लगा। उसनें उस समय की मधुबाला की हमशक्ल और स्ट्रगलिंग एक्ट्रेस सोना से शादी की। जब फिल्मों में सोना की एंट्री हुई तो एक पल के लिए सभी लो लगा कि मधुबाला वापस आ गयी हैं। दोनों के चेहरे की नहीं बल्कि हाव-भाव भी लगभग एक जैसे ही थे। हाजी मस्तान ने सोना को पहली बार अपने प्रोडक्शन हाउस की एक फिल्म में देखा था। उसी वक़्त उसे सोना से प्यार हो गया और उसनें सोना से शादी करने का फैसला ले लिया।

हाजी मस्तान की मौत के बाद शुरू हो गए सोना के दुर्दिन:

हाजी मस्तान ने सोना से शादी करने का फैसला कर लिया था, इसलिए वह शादी का प्रस्ताव लेकर सोना के घर पहुंचा। वहां उसकी माँ से बात की। सोना को हाजी मस्तान का प्रस्ताव पसंद आया और उसने शादी के लिए हाँ कर दी। हालाँकि हाजी मस्तान पहले से ही शादी-शुदा था लेकिन इसका असर सोना और हाजी के रिश्ते पर कभी नहीं आया। शादी के कुछ सालों के बाद ही हाजी मस्तान की मृत्यु हो गयी। उसके बाद शुरु हुआ सोना का बुरा दिन। सोना के ऐसे बुरे वक़्त आ गए कि वह दो जून की रोटी के लिए भी मुहाल हो गयी थी। हाजी मस्तान की मृत्यु के बाद उसका परिवार सोना के जान का दुश्मन बन गया था।