गया घी और भैंस घी में अंतर: आमतौर पर घी का इस्तेमाल खाने में किया जाता है. घी से खाना बनाने पर या फिर खाने में घी डालने पर खाने का स्वाद और बढ़ जाता है. मिठाई बनाने में भी लोग घी का इस्तेमाल करते हैं और पूजा-पाठ के दौरान भी घी का इस्तेमाल किया जाता है. कुछ लोग घी के बिना खाना नहीं खाते तो कुछ लोग घी को कभी हाथ नहीं लगाते. उनका मानना है कि घी में चर्बी होती है और इससे मोटापा आता है. लेकिन हम आपको बता दें जो लोग यह सोचते हैं कि घी खाने से मोटापा आता है वे लोग बिलकुल गलत है. यह बस एक मिथ है कि घी खाने से वजन बढ़ता है. असल में तो इसका नियमित सेवन करने से व्यक्ति का वजन कंट्रोल में रहता है. घी में अनेकों पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होते हैं. इसलिए आज हम आपके लिए घी से जुड़ी कुछ बेहद महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आये हैं. अधिकतर लोगों को जवानी में पित्त के रोग होते हैं. उन्हें छाती, पेट और गले में जलन, रक्त की एसिडिटी में बढ़ोत्तरी, हार्ट अटैक, खट्टी डकारें और आंखों में जलन जैसी समस्याएं होती हैं. इन रोगों को पित्त का रोग कहा जाता है. पित्त के रोगों से खुद का बचाव करना बेहद ही सरल है. इसे आयुर्वेदिक तरीके से ठीक किया जा सकता है. ये तरीका साढ़े तीन साल पहले वागभट्ट जी ने अपनी पुस्तक में लिखा था.

यदि आप चाहते हैं कि आपका पित्त उम्रभर ठीक रहे और आपको किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े तो उसके लिए आज ही से देसी गाय के शुद्ध घी का सेवन शुरू कर दें. उन्होंने कहा है कि नियमित तौर पर यदि व्यक्ति देसी गाय का शुद्ध घी खाना शुरू कर दे तो उसे कभी पित्त की समस्या नहीं सताएगी. वैसे तो उन्होंने कई चीजों का जिक्र किया है लेकिन उनकी लिस्ट में सबसे ऊपर गाय का घी है. बहुत लोगों को गाय और भैंस के घी में अंतर नहीं पता होता. उन्हें समझ नहीं आता कि कौन से घी का सेवन उनके लिए अच्छा है. तो चलिए हम आपको बताते हैं गाय और भैंस के घी में अंतर.

गाय और भैंस के घी में अंतर

भैंस का घी जिन एक केटेगरी के लोगों को सबसे ज्यादा खाना चाहिए वह हैं पहलवान. जो लोग पहलवानी करते हैं, दंड बैठक लगाते हैं उनके लिए भैंस का घी बहुत फायदेमंद होता है. उन्हें गाय का घी खाने की मनाही होती है. भारी शरीर होने के कारण उनके लिए भैंस का ही घी फायदेमंद है. गाय का घी खाने पर वह बीमार हो सकते हैं. इसके विपरीत जो सीधा सादा गृहस्थ जीवन व्यतीत करते हैं और पहलवानी से उनका दूर-दूर तक नाता नहीं है, ऐसे लोगों को गाय के घी का सेवन करना चाहिए. यह पित्त के रोगों से उनका बचाव करेगा.

दोस्तों, अब आप समझ तो गए ही होंगे कि कौन सा घी खाना आपके लिए फायदेमंद है. हमें उम्मीद है कि आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई होगी. पसंद आने पर इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें. धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!