विशेष

लोगों पर एक साथ टूट रहा है डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का कहर, जानिये क्या है इसकी वजह

अमूमन ऐसा कम देखा जाता है कि किसी व्यक्ति पर एक डेंगू, मलेरिया या चिकनगुनिया का कहर टूट पड़े। इसलिए, अगर किसी में इन तीनों भंयकर बिमारियों में से किसी के भी लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेने की जरुरत है। हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आये हैं जिनमें ये तीनों बीमारियां एक ही व्यक्ति को एक साथ हो गईं। डॉक्टर्स के मुताबिक, अगर किसी को डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया एक साथ हो जाये तो उसका इलाज बहुत मुश्किल है। ऐसे व्यक्ति को बचाना काफी मुश्किल भरा काम होता है।

इस बात का खुलासा जामिया मिलिया इस्लामिया द्वारा हाल में किये गए रिसर्च से सामने आया है। यहां के डॉ. मोहम्मद अब्दुल्ला के मुताबिक, इस तरह के दो मामले सामने आये हैं जिनमें से पहले में एक तीन साल के बच्चे में ये तीनों बिमारियां पाई गई। दूसरा मामला एक 21 साल की लड़की में सामने आया था। इन दोनों मामलों के सामने आने के बाद डॉक्टरों में इस बात को लेकर चिंता बढ़ गई है कि ऐसे मामले आने वाले भविष्य में और बढ़ सकते हैं। हैरानी की बात ये है कि किसी मरीज को डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया तीनों ही बीमारी एक साथ होती है तो उसकी जान को खतरा काफी बढ़ जाता है। गौरतलब है कि पिछले साल डेंगू और मलेरिया से दिल्ली में कई मौतें हुई और चिकनगुनिया के 900 से अधिक मामले सामने आये। जामिया मिलिया इस्लामिया की रिसर्च के मुताबिक, मरीजों में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया तीनों ही बीमारी एक साथ होने के खतरे बढ़ रहे हैं इसलिए ऐसे मामलो में तुरंत नेशनल लेवल पर ऐक्शन प्लान बनाने की जरूरत है।

कैसे पहचानें डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के लक्षण?  

चिकनगुनिया

चिकनगुनिया का सबसे पहला लक्षण तेज बुखार होना है। कुछ मामलों में बुखार हर 3-4 दिन बार आता रहता है। चिकनगुनिया का दुसरा सबसे प्रमुख लक्षण जोड़ों में बहुत तेज दर्द होना है। तीसरे लक्षण में 3-4 दिन में शरीर पर लाल चकत्ते दिखाई देने लगते हैं।

डेंगू

डेंगू लक्षण कुछ हद तक चिकनगुनिया से मिलते हैं। इसमें भी तेज बुखार आता है और प्लेटलेट्स कम होने लगते हैं। सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द आम बात है। डेंगू में बहुत ज्यादा कमजोरी लगना, भूख न लगना और जी मिचलाने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। डेंगू में शरीर पर खासकर चेहरे, गर्दन और छाती पर लाल-गुलाबी रंग के रैशेज दिखाई देते हैं।

मलेरिया

मलेरिया के लक्षण चिकनगुनिया और डेंगू से भी कुछ हद तक मिलते हैं। मलेरिया में कंपकंपी और ठंड के साथ तेज बुखार आता है। यह बुखार अमुमन 104-105 डिग्री तक होता है। लेकिन, इसमें एक खास बात यह है कि बुखार आमतौर पर एक दिन छोड़कर आता है। मलेरिया में उलटी, कमजोरी, चक्कर आना और जी मिचलाने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

यह तीनों बिमारियां वैसे ही जानलेवा हैं। और अगर ये किसी व्यक्ति को एक साथ हो जाये तो उसकी जान को खतरा काफी बढ़ जाता है। डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया से बचने के उपायों पर बात करें तो इसके लिए सबसे जरुरी उपाय मच्छरों से बचाव है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close