उत्तराखंड के सीएम ने गेस्ट के नाश्ते-पानी में किये लाखों खर्च,आरटीआई से हुआ खुलासा

उत्तराखंड:  सूबे में बीजेपी की सरकार बने हुए एक साल होने वाले हैं, लेकिन इस बीच आरटीआई द्वारा एक चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। इस खुलासे पर सबकी अपनी अपनी राय हो सकती है, इसमें कोई दोराय नहीं है। कोई इसका समर्थन करेगा तो कोई इसकी जमकर आलोचना करेगा, लेकिन आचोनाओं और समर्थन से उठकर ऐसे मुद्दों पर सोचना चाहिए। आइये देखते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या है?

उत्तराखंड के सीएम को लेकर एक बड़ा खुलासा सामने आया है, इस खुलासे को कोई नाकार नहीं सकता है, क्योंकि यह खुलासा आरटीआई यानी सूचना के आधिकार से हुआ है। बताते चलें कि ये एक ऐसा कानून या अधिकार है, जिसके तहत आप कैसी भी जानकारी किसी भी विभाग से ले सकते हैं, बर्शते आपकी जानकारी सुरक्षा को लेकर न हो।

दरअसल, उत्तराखंड के सीएम को लेकर एक आरटीआई दायर की गई थी, जिसमें सीएम आवास में सरकारी पैसों का नाश्ता पानी में खर्च हुए रूपयों की जानकारी मांगी गई थी। जिसके बाद आरटीआई की तरफ से जवाब आया कि जब से सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पदभार संभाला है, तब से सीएम आवास में आने वाले मेहमानों के चाय पानी पर 68 लाख 59 हजार 865 रूपये खर्च हुए हैं। ये खुलासा वाकई चौंका देने वाला है, क्योंकि जिस देश में न जाने कितने लोग दो वक्त ही रोटी के लिए मोहताज हों, उस देश में नेतागढ़ चाय पानी पर लाखों करोड़ो रूपये बर्बाद करते हैं।

उत्तराखंड में पिछले साल विधानसभा चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी की सरकार सत्ता पर काबिज हुई। ऐसे में एक आरटीआई कार्यकर्ता ने सीएम आवास में आने जाने वाले मेहमानों को नाश्ता पानी के लिए कितना खर्च होता है, उसका ब्यौरा मांगा। आरटीआई से मिले जवाब को लेकर एक बड़ा सवाल ये खड़ा होता है कि जब सिर्फ एक राज्य का सीएम इतना खर्च करता है, तो अगर सभी राज्यों के  खर्चों को जोड़ लिया तो इतना खर्च निकल सकता है, जिससे देश में हर गरीब को दो वक्त की रोटी बड़े प्यार से मिल सकती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.