राजनीति

मुस्लिम लड़की ने हिन्दू लड़के से किया लव मैरिज, पर अब शादी के बाद हो रहे हैं ये सारी घटनाएं

ग्वालियर: कहते हैं प्यार किसी भी बुरे व्यक्ति को बदलने की ताकत रखता है. इसके इलावा प्यार में पड़ने वाला व्यक्ति दुनिया, जात-पात,  धर्म आदि के फर्क को नहीं समझता. क्यूंकि, उसकी दुनिया, मज़हब, इमान सब उसका प्रेमी ही होता है. आज के इस नए दौर में आशिकों की संख्या दिनों दिन बढती जा रही है. भारत देश की बात करें तो यहाँ बहुत कम पेरेंट्स अपने बच्चो के प्यार को अपनाते है बाकी अन्य धर्म और जात पात के मोह में फंस कर अपने साथ साथ अपने बच्चों का भी दिल दुखाते हैं.

इस दुनिया में सच्चा प्यार मिलना बहुत मुश्किल है और अगर वह मिल जाए तो उसके साथ जीवन व्यतीत करने की हमारा समाज हमे इजाजत नही देता. कुछ ऐसा ही एक मामला हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ, चंबल संभाग की एक मुस्लिम महिला को अपने मोहल्ले में रहने वाले एक हिन्दू लड़के से प्यार हो गया. दोनों एक दुसरे के प्यार में इतने पागल थे कि उन्होंने घर से भाग कर और सबके खिलाफ जाकर शादी कर ली. जिसके बाद से पूरा समाज यहाँ तक कि उनके अपने घरवाले उनका साथ छोड़ चुके हैं और उन्हें मारने पर उतारू हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार बच्चों के घर से भागने के बाद और उनकी शादी के बाद दोनों के घरवाले एक दुसरे के कट्टर दुश्मन बन चुके हैं. साथ ही लड़की के घर वाले दोनों को कईं बार मरने की कोशिश भी कर चुके हैं. लेकिन, किसी तरह दोनों उनसे बच निकले. फिलहाल महिला ने अपने घर वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज़ करवा कर पुलिस से सुरक्षा की मांग की है. महिला ने पुलिस को अपने मायके वालों से जान के खतरे की आशंका प्रकट की है.

पीड़िता के अनुसार उन दोनों के साथ पहले भी मारपीट हो चुकी है लेकिन वह अपने मायके वालों के डर से गवाही देने नहीं आ पाई. अबे अपने पति से दूर नहीं होना चाहती इसलिए उसने पुलिस महानिरिक्षक से सुरक्षा मुहैया करवाने का अनुरोध किया है. आपको हम बता दें कि यह पूरा मामला पहाड़गढ़ के कटौली गांव की रहने वाली चानू का है जिसकी शादी कुछ वर्ष पहले गांव के ही रामनिवास कुशवाह से हुई थी. दोनों का धर्म और जात पात अलग होने के कारण घर वालों को उनका प्यार रास नहीं आया जिसके बाद दोनों ने भागकर लव मैरिज की थी. साल 2013 में चालू एवं उसके पति रामनिवास पर उनके परिजनों ने हमला भी किया. जिसके बाद से यह मामला पंजीबद्ध होकर सबलगढ़ न्यायालय में विचाराधीन है. इसके बावजूद जानू अपने घरवालों के डर से कोट तक जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही.

परंतु इसी मंगलवार को थाने पहुंची जानू ने आईजी संतोष कुमार सिंह को बताया कि अगर वह गवाही देने गई तो उसके परिवार के परिजन उसको मार डालेंगे. चानू ने हसन, लियाकत, मुस्ते, हनीफ, पप्पू , अली हुसैन तथा कमरुद्दीन से जान का खतरा बताया है. इसी के चलते उसने सुरक्षा मुहैया करवाने की डिमांड रखी है. साथ ही पति रामनिवास ने आवेदन में सुरक्षा के मामले पर पुलिस पर असहयोग का आरोप लगाया है.

रामनिवास ने मीडिया को बताया कि गवाही के अनुरोध के चलते उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की मांग की लेकिन पुलिस ने उनकी बात को अनसुना कर दिया. जिसके बाद अब आईजी संतोष कुमार सिंह ने पुलिस अध्यक्ष अनुराग सजनिया को चालू और रामनिवास की सुरक्षा के इंतजाम करने के आदेश दिए हैं ताकि चालू अपने मायके के खिलाफ गवाही दे सके.

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close