ये कहावत तो आपने सुनी ही होगी कि ‘देने वाला जब भी देता है, छप्पड़ फाड़ कर देता है’. यह कहावत कुछ इंसानों पर बिलकुल सटीक बैठती है. कब और कैसे ऊपर वाला किसी पर मेहरबान हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता. दरअसल एक किसान चंद मिनटों में लखपति बन गया. अब आप सोच रहे होंगे कि ज़रूर उस किसान की लॉट्री लगी होगी. लेकिन जैसा आप सोच रहे हैं वैसा कुछ नहीं है. जो सच्चाई हम आपको बताने जा रहे हैं उसे पढ़कर आप भी यही सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि दिन हर किसी के फिरते हैं. बस ज़रुरत है तो सही वक़्त का इंतज़ार करने की.

दरअसल, ब्रिटेन का एक किसान हर रोज़ की तरह अपने खेत में खेती करने गया. पहुंचते ही उसने अपना काम शुरू कर दिया. वह खेत की साफ़-सफाई, पेड़ों का रख-रखाव इत्यादि में लग गया. लेकिन खेत की सफाई के दौरान उसे एक ऐसी चीज़ मिली जिसकी कल्पना उसने सपनों में भी नहीं की होगी. साफ-सफाई के दौरान किसान की नज़र कचड़े के एक ढेर पर पड़ती है. उसे कचड़े के ढेर में मिट्टी के बीच कुछ दबा हुआ सा नज़र आया. किसान उसके पास गया और कचड़े के ढेर से उस अनोखी दिखने वाली चीज को उठाया. और कचड़ा समझकर फेंकने जार रहा था लेकिन जब उसे लोगों ने उस चीज की सच्चाई बताई तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई.

काले रंग की चीज व्यक्ति ने जो हाथों में पकड़ रखी है वह कोई आम चीज नहीं है. बता दें कि उसने अपने हाथों में जिस चीज को पकड़ा हुआ है वह ‘ब्लैक गोल्ड’ है. यह ब्लैक गोल्ड एक फंगस (कवक) का होता है. भारतीय बाज़ार में इसकी कीमत तकरीबन 20 लाख रुपये है. इसे ‘ब्लैक ट्रफल’ के नाम से भी जाना जाता है. फ्रांस, जर्मनी, इटली के लोग इसे बड़े चाव से खाते हैं. कुछ अन्य देशों में भी लोग इसका सेवन बड़े चाव के साथ करते हैं. यह बहुत कीमती होता है और इससे तरह-तरह के खाद्य पदार्थ बनाये जाते हैं.

बता दें कि किसान को ‘ब्लैक गोल्ड’ नाम का यह पदार्थ तब मिला जब वह अपने बगीचे में एक पुराने पेड़ (ओक) के आस-पास जमी हुई मिट्टी को साफ करने गया था. किसान किसी के यहां मजदूरी करता है और खेत के मालिक ने उसे अपना बाग-बगीचा संभालने के लिए रखा हुआ है. यहां के किसान हर रोज बाग-बगीचे और खेत की सफाई Steve Fletcher से करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!