स्वास्थ्य

दर्द होने पर दवा नहीं खाएं ये नेचुरल पेनकिलर्स, बिना साइड इफेक्ट्स दूर होगी तकलीफ

आमतौर पर जब हमे दर्द होता है तो झट से किसी पेन किलर का सेवन कर लेते हैं जबकि ये जानते रहते हैं कि इन दवाओं का ना तो कोई दीर्घकालित लाभ मिलता है और ना ही ये पूरी तरह सुरक्षित होती है । इन दर्द-निवारक दवाओं से होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में अक्सर हमें आगाह किया जाता है लेकिन फिर भी हम इनका सेवन करना नहीं छोड़ते इसकी वजह शायद ये भी है कि इनका हमे कोई सही विकल्प नजर नहीं आता .. पर आपको बता दें कि कई सारे ऐसे प्राकृतिक उपाय हैं जिनसे पेन किलर्स की अपेक्षा दर्द से बेहतर राहत मिल सकती है और वो भी बिना किसी साइड इफेक्ट्स के .. जी हां, आज हम आपको कुछ ऐसे नेचुरल पेन किलर्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

आयुर्वेद में हर मर्ज की दवा है .. यहां तक की इसमें कई सारे ऐसे नेचुरल पेन किलर्स भी हैं जो आपके दर्द को पल भर में छूमंतर कर देते हैं। तो चलिए जानते हैं वे नेचुरल पेन किलर्स कौन-कौन से हैं।

जिन कद्दू के बीज आप बेकार समझ कर फेंक देते हैं वो वास्तव में नेचुरल पेन किलर का काम करते हैं। मैग्नीशियम से भरपूर कद्दू के बीज माइग्रेन के दर्द से निजात दिलाने में बेहद कारगर हैं। इसके साथ ही ओस्टिओपोरोसिस के इलाज में भी कद्दू के बीज असरदार होते हैं।

अदरक औषधीय गुणों से भरपूर होता है .. पेट दर्द, अपज, मरोड़ जैसी समस्याओं से निजात दिलाने में विशेष लाभकारी है। इसके साथ ही ये मासिक धर्म में होने वाले दर्द और तकलीफों को दूर करने में बेहद कारगर साबित होता है। इसलिए महिलओं को पीरिएड्स के दौरान दर्द से राहत पाने के लिए अदरक वाली चाय का पीने की सलाह दी जाती है।

औषधीय गुणों से भरपूर हल्दी भी एक नेचुरल पेन किलर है इसलिए चोट लगने पर हल्दी का पेस्ट लगाने की सलाह दी जाती है । इसके साथ ही हल्दी आर्थराइटिस, ओस्टिओआर्थराइटिस के उपचार में भी काफी बेहद लाभकारी है।

चेरी खाने में जितने टेस्टी होते हैं उतने ही स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी होते हैं। दरअसल चेरीज एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होते हैं ऐसे में ये मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत दिलाने में काफी असरदार हैं।

पुदीना तो मेडिकल साइंस के द्वारा प्राकृतिक पेन किलर के रूप में प्रमाणित किया जा चुका है। असल में ये हर तरह के दर्द में बेहद प्रभावी होता है। इसके साथ ही पुदीने का तेल अपच, उल्टी और दर्द भरे क्रैंप्स के लिए बेहद फायदेमंद साबित होता है।

शायद आपको य़कीन ना हो पर लाल मिर्च भी नेचुरल पेन किलर है .. दरअसल इसमें कैप्सेकिन नाम का तत्व पाया जाता है जिसके वजह से ये दर्द निवारक गुणों से भरपूर होता है। साथ ही स्वास्थ्य शोध में ये भी सामने आया है कि कि लाल मिर्च के सेवन से त्वचा की सूजन का उपचार जल्दी होता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button