आजकल मौसम के बदलाव और गलत खान-पान की वजह से सभी लोगों को कोई ना कोई शारीरिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन्ही वजहों से उत्पन्न होती है, महिलाओं की एक गंभीर बीमारी। कई बार गलत खान-पान की आदतों से महिलाओं की बच्चेदानी में सूजन की समस्या हो जाती है। बदलता वातावरण महिलाओं के गर्भाशय को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है। इसी वजह से महिलाओं में यह गंभीर समस्या देखने को मिलती है।

बच्चेदानी में सूजन की वजह से महिलाओं को असहनीय पेट दर्द, बुखार, सिर दर्द और कमर दर्द की पीड़ा सहनी पड़ती है। अगर समय रहते ही इस बीमारी की पहचान करके इलाज नहीं किया गया तो इसकी वजह से कैंसर होने का भी खतरा रहता है। इसके इलाज के लिए दवाइयों का इस्तेमाल तो किया ही जाना चाहिए, साथ ही कुछ घरेलू उपाय भी अपनाने चाहिए। इससे यह समस्या जल्द ही दूर हो जाती है। आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलु नुस्खे बताने जा रहे हैं, जिससे आप बच्चेदानी के सूजन की समस्या से निजात पा सकते हैं।

बच्चेदानी में सूजन होने की वजह:

*- बदलते मौसम की वजह से महिलाओं की बच्चेदानी में कभी-कभी सूजन हो जाती है।

*- कई बार ज्यादा दवाओं के सेवन करने की वजह से भी बच्चेदानी में सूजन की समस्या देखने को मिलती है।

*- जो महिलाएं ज्यादा समय तक व्यायाम करती हैं, उनकी बच्चेदानी में भी सूजन हो सकती है।

*- कई महिलाएं बहुत ज्यादा खाना खाती हैं। अपनी भूख से ज्यादा खाना खाने पर भी बच्चेदानी में सूजन हो सकता है।

*- तंग कपडे पहनने से पेट पर दबाव पड़ता है। ऐसा लगातार करने पर बच्चेदानी में सूजन हो सकती है।

*- प्रसव के दौरान जब सावधानी नहीं बरती जाती है तो भी महिलाओं की बच्चेदानी में सूजन हो जाता है।

*- ज्यादा यौन सम्बन्ध बनाने से भी बच्चेदानी में सूजन हो जाता है।

बच्चेदानी में सूजन के लक्षण:

*- पेट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं

*- लगातार पेट दर्द गैस और कब्ज की शिकायत रहती है

*- पीठ में दर्द होता है और बुखार रहता है

*- गुप्तांगों में खुजली और जलन की समस्या

*- माहवारी के समय ठंढ लगना और असहनीय दर्द होना

*- यौन सम्बन्ध स्थापित करते समय दर्द होना

*- लगातार पेशाब आना

*- पेट ख़राब होना और बार-बार उल्टी होना

बच्चेदानी के सूजन को ठीक करने के घरेलू उपाय:

नीम के पत्ते और सोंठ लेकर उसे पानी में तब तक उबालें जब तक वह गाढ़ा काढ़ा ना बन जाये। अब इस काढ़े को हर रोज अपने गुप्तांगों में लगायें। जल्द ही बच्चेदानी के सूजन से मुक्ति मिल जाएगी। साथ ही आप नहाते समय भी नीम के पत्तों का इस्तेमाल करें।

भुने हुए सुहागे के साथ हल्दी लेकर ताजे मकोय के रस में मिलाएं। अब इस मिश्रण को रुई की सहायता से अपने गुप्तांगों पर लगायें। कुछ ही दिनों में सूजन ख़त्म हो जाएगी।

अरंडी के कुछ पत्तों को लेकर पानी में अच्छी तरह से उबाल लें। अब इसमें रुई भिगोकर मुंह में रखें। कुछ दिनों तक ऐसा लगातार करें। इससे पेट में मौजूद कीटाणु ख़त्म हो जायेंगे और सूजन से भी छुटकारा मिल जायेगा।

एक चम्मच बादाम पाउडर लेकर उसे ३ चम्मच शरबत बनफ्सा और खांड पानी में रात को भिगो दें। सुबह उठने के बाद इस पानी को पीयें। इससे आपके गर्भाशय में गर्मी होगी और सूजन ठीक हो जाएगी।

जब भी बच्चेदानी में सूजन की समस्या हो फलों के रस का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए। इसके साथ ही आप सब्जियों के रस का भी सेवन कर सकती हैं। इससे बच्चेदानी के सूजन से रहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.