विशेष

चाणक्य नीति: मर्दों को ये 4 बातें भूल से भी नहीं बतानी चाहिए किसी को, वरना पड़ेगा भारी

हर इंसान की जिंदगी का कोई ना कोई ऐसा कड़वा सच होता है, जो अगर राज ही रहे तो बेहतर रहता है. कई बार कुछ बातें किसी के साथ बांटने से हम उनका अनजाने में दिल दुखा बैठते हैं. आपने चाणक्य का नाम तो सुना ही होगा. आचार्य चाणक्य बहुत बड़े ज्ञानी विद्वान थे. चाणक्य ने जीवन अच्छे से परख कर ऐसी बातें बताई हैं, जिनको हमारी जिंदगी में शामिल करने से हमारी जिंदगी में सुख समृद्धि बनी रहेगी.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि आचार्य चाणक्य ने आज तक जितनी भी बातें मनुष्य जीवन के यह बताई है उन सभी बातों में हमारी किसी ना किसी परेशानी का हल छिपा ही होता है. चाणक्य ने मर्दों की जिंदगी बेहतर बनाने के लिए कुछ ऐसे सुझाव पेश किए हैं, जिन्हें अपनाकर अपने दुख दर्द को कम कर सकते हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको चाणक्य की बताई उन चार बातों को बताने जा रहे हैं, जिन्हें पुरुषों को भूल से भी किसी के साथ बांटना नहीं चाहिए. तो चलिए जानते हैं आखिर में चार बातें क्या है…

अक्सर हम इंसान अपनों के साथ अपना दुख दर्द बांटने से अपनी समस्याओं का हल निकालते हैं. कहते हैं किसी के साथ अगर दर्द बांटा जाए तो दर्द कम हो ना हो लेकिन दर्द का सर पर से बोझ कम जरूर हो जाता है. परंतु चाणक्य के अनुसार मर्दो को अपने पैसों के संबंधित कमी की समस्या किसी को नहीं बांटनी चाहिए. क्योंकि आप जिससे भी धन की समस्या शेयर करेंगे आपको यह उम्मीद होगी कि बदले में आपको उससे मदद मिलेगी परंतु, ऐसा बिल्कुल नहीं है. चाणक्य के अनुसार अगर सामने वाला आपकी आर्थिक कमजोरी समझ जाए तो वह आपकी मदद करने को कभी भी तैयार नहीं होगा. क्योंकि इस दुनिया में अमीर को पैसा देकर सभी खुश हैं मगर गरीब की मदद कोई नहीं करना चाहता.

वैसे तो इंसान अपने दुखों को बांट कर हल्का महसूस करता है. परंतु मर्दों के मामले में यह बिल्कुल उल्टा है. अगर कोई पुरुष सामने वाले को अपना दुख जताता है तो सामने वाला उसको संभालने की जगह उसका मजाक उड़ाना ज्यादा बेहतर समझता है. इससे आपका दुख कम होने की जगह और ज्यादा बढ़ जाएगा. अक्सर आपने देखा होगा कि समाज में मजाक उड़ाने वाले तो बहुत मिल जाते हैं परंतु किसी की मदद करने को कोई राजी नहीं होता.

बहुत सारे मर्द अपनी गर्लफ्रेंड या पत्नी का जिक्र अपने दोस्तों से करते हैं. परंतु एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि मर्दों को भूल से भी अपनी पत्नी का चरित्र वर्णन किसी के सामने नहीं करना चाहिए. समझदार मर्द वही है जो अपनी घर गृहस्ती और ग्रहणी को गुप्त रखें. क्योंकि अगर आप अपनी पत्नी की कमियां किसी को बांट देंगे तो वह कमी आप ही में निकालेंगे. इससे आगे चलकर आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

मर्दों को एक बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि अगर उनके जीवन में किसी व्यक्ति ने उनको बेइज्जत या अपमानित किया हो तो वह बात उन्हें अपने तक ही सीमित रखनी चाहिए. क्योंकि अपनी बेइज्जती का वर्णन करके आप समाज में मजाक के पात्र बन जाएंगे और आपकी प्रतिष्ठा पर भी आ जाएगी. चाणक्य के अनुसार अगर मनुष्य इन बातों को गुप्त रखने में सफल हो जाए तो उनके जीवन में उनकी प्रतिष्ठा बनी रहती है.

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button