10 के सिक्कों को लेकर आई सबसे अहम खबर, जानिए RBI ने क्या कहा

देश में नोटबंदी के बाद से अक्सर ऐसी खबरे आती रहीं है कि फला सिक्का या नोट अब बंद हो चुका है और वो नहीं चलने वाला .. ऐसे में उस सिक्के या नोट विशेष के लेनदेन दिक्कत आने लगती है। हाल के दिनों में 10 के सिक्के के साथ भी यही समस्या आ रही थी .. दूकानदार और ऑटो रिक्शा चालक अक्सर लोगों से 10 का सिक्का लेने को मना कर देते थें जबकि सरकार की तरफ से 10 के सिक्के को बंद करने या किसी विशेष डिजाइन के सिक्के के मान्य होने से सम्बंधित कोई सूचना जारी नहीं की गई थी । ऐसे में 10 के सिक्के को लेकर फैले भ्रम को दूर करने को लिए बुधवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अधिसूचना जारी की और बताया कि 10 रुपए के सिक्के के सभी 14 डिजाइन वैध और मान्य हैं।

असल में, 10 के सिक्के को लेकर मार्केट में काफी कन्फ्यूजन है, लोगों के बीच अलग-अलग धारणाएं बनी हुईं हैं .. कोई कहता है कि ₹ के चिन्ह वाला सिक्का असली है जबकि कोई 10 धारियों वाले सिक्के के असली बताता है, वहीं कुछ लोग 10 की जगह 15 धारियों वाले सिक्के को असली मानते हैं । ऐसे में बहुत से लोग दस के सिक्के लेने से कतराते हैं। हालांकि आरबीआई ने इससे पहले भी सफाई 10 के सिक्के को लेकर सफाई दी है लेकिन फिर भी लोगों में संदेह की स्थिति बनी हुई है, इसलिए आरबीआई को अब स्पष्टीकरण देना पड़ा है।

इस मामले में आरबीआई ने स्पष्ट किया कि चूकि देश के कई स्थानों से व्यापारियों और नागरिकों के बीच 10 के सिक्कों पर संदेह की खबरें आ रही हैं ऐसे में हम साफ करना चाहते हैं कि 10 के सिक्के के सभी 14 डिजाइन मान्य और वैध हैं। साथ ही RBI ने सभी बैकों और शाखाओं से भी 10 के सिक्कों के लेनदेन और एक्सचेंज को स्वीकार करने के लिए कहा है।

इस बारे में आरबीआई ने कहा कि अब तक हमने अलग-अलग तरह के 14 डिजाइन में दस रुपये के सिक्के मार्केट में उतारे हैं और वे सभी वैध हैं। साथ ही आरबीआई ने ये भी स्पष्ट किया कि इनमें से कोई भी सिक्का मार्केट से वापस नहीं लिया गया है और सभी सिक्के चलन में हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले भी नवंबर 2016 में भी आरबीआई ने 10 के सिक्कों को लेकर सफाई दी थी और बताया था कि सभी डिजाइन के सिक्के असली हैं और लोग उन्हें लेने से मना न करें। अपने सफाई में उस वक्त आरबीआई ने बताया था कि सिक्कों पर अक्सर देश के आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक प्रतीकों को दर्शाया जाता है, ऐसे में एक ही मूल्य के सिक्के अलग-अलग डिजाइन और आकार में हो सकते हैं। इसलिए वैधता के लिहाज से सभी सिक्कों में कोई अंतर नहीं है और सभी का बेहिचक लेनदेन किया जाना चाहिए।  इसके साथ ही उस वक्त दस का सिक्का लेने से मना करने पर कानूनी कार्रवाई की भी बात कही गई थी, पर उसके बाद फिर भी लोगों के मन में 10 के सिक्कों को लेकर आशंका बनी रही । ऐसे में बुधवार को आरबीआई ने 10 के सिक्के को लेकर बनी भम्र की स्थिति को फिर से साफ करने की कवायद की है।

error: Content is protected !!