सबसे बड़े भविष्यवक्ता ने किया था ऐलान, 2018 में होगा विश्वयुद्ध

दुनिया: विश्व के सबसे बड़े भविष्यवक्ता में अगर किसी का नाम आता है तो वो है नास्त्रेदमस। जी हां, नास्त्रेदमस ने बहुल पहले एक भविष्यवाणी किया था, जिसके अनुसार 2018 में तीसरा विश्वयुद्ध होगा। बता दें कि इस भविष्यवाणी को लेकर खलबली भी मची हुई है। तो चलिए देखते है कि इस भविष्यवाणी में कितनी सच्चाई है?

युद्ध कैसा भी क्यों न हो, किसी सूरत में हितकारी नहीं होता है, यही कारण है कि हर कोई युद्ध से बचना चाहता है। लेकिन नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी को नजरअंदाज भी तो नहीं किया जा सकता है। बता देंं कि नास्त्रेदमस ने कहा था कि ये तीसरा विश्व युद्ध दो दिशाओं के बीच होगा, यानी तीसरा विश्वयुद्ध पूरब और पश्चिम के बीच होगा। मतलब साफ है कि न सिर्फ देश बल्कि इस विश्वयुद्ध में दो दिशाएं शामिल होंगी। अगर यह युद्ध हुआ तो इस धरती पर बहुत ही कम लोग ऐसे बचेंगे, जो अपनी लाइफ आराम से बीता पाएँगे।

Impacts of cyber attacks

दरअसल, इस भविष्वाणी पर इसलिए भी चिंता जताई जा रही है क्योंकि नार्थ कोरिया और अमेरिका के बीच रिश्ते बेकार चल रहे हैं। दोनों ने एक दूसरे को युद्ध तक की धमकी दे डाली है। बता दें कि दोनोंं के पास ही हथियार की कोई कमी नहीं है। पिछले साल ही दोनों देशों में जमकर विवाद जारी है। दोनों तरफ से बयानबाजी जारी है। ऐसे में अगर दोनों के बीच युद्ध हुआ तो वाकई यह युद्ध विश्व भर में होगा।

बता दें कि दुनियाभऱ में 15 हज़ार से ज़्यादा परमाणु बम हैं। इतना ही नहीं, इनमें से एक-एक बम एक पूरे शहर को श्माशान बनने के लिए काफी है। जी हां, जैसी जापानी शहर हिरोशिमा और नागासाकी पर अमेरिका ने परमाणु बम गिराकर तबाही मचाई थी, ठीक वैसा ही मंजर अगर पूरी दुनिया में होगा तो कोई उसे देखने वाला भी शायद नहीं बचेगा। यहां एक बात साफ कर दें कि जरूरी नहीं है कि यह भविष्यवाणी सच ही हो।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.