टीम इंडिया के इस बड़े क्रिकेटर को पड़ोसन से ही हो गया था प्यार, फिर ऐसे की शादी…

भारतीय क्रिकेट टीम में एक से बढ़कर एक बेहतरीन गेंदबाज और बल्लेबाज मौजूद है। पीयूष चावला भी भारत के बेहतरीन लेग स्पिनर गेंदबाजों में से एक है भले ही अब वो भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा ना हो लेकिन एक समय था जब दाएं हाथ की लेग स्पिन गेंदबाजी से उन्होंने अपनी अलग ही पहचान बनाई थी।

पीयूष चावला का जन्म यूपी के अलीगढ़ शहर में हुआ था। पीयूष चावला में महज 18 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना करियर शुरू किया था। जब भारतीय टीम ने 2011 के वर्ल्डकप जीता था उस समय भी पीयूष चावला भारतीय टीम के सदस्य थे। पीयूष चावला ने अब तक तीन टेस्ट, 25 वनडे और सात टी20 मैच खेले हैं टेस्ट में सात, वनडे में 32 और टी20 मैचों में चार विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं। बहरहाल, आज हम आपको उन के रिकार्ड्स के बारे में नहीं बल्कि उनकी निजी जिंदगी के बारे में बता रहे हैं। दरअसल, क्रिकेट के तीनों प्रारुपों में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व कर चुके पीयूष चावला को अपने ही पड़ोस की लड़की से प्यार हो गया था जिसके बाद उन्होंने उस से शादी कर ली।

आपको बता दें की पीयूष चावला की शादी अनुभूति चौहान से हुई है जो कि उनके पड़ोस में रहती थी। अनुभूति एमबीए कर चुकीं अनुभवी डॉक्टर अमर सिंह चौहान की बेटी हैं जो मेरठ में मुख्य चिकित्सकीय अधिकारी के रूप में कार्यरत रह चुके हैं। पीयूष चावला और अनुभूति चौहान एक दूसरे को बचपन से जानते थे जिसके बाद उनकी दोस्ती का रिश्ता जीवनभर के रिश्ते में बदल गया। शादी से पहले दोनों ने दो साल तक डेटिंग की, फिर टीम इंडिया के फिरकी गेंदबाज ने उन्हें शादी के लिये प्रपोज किया, अनुभूति ने भी बिना देर लगाये हां कर दी। करीब दो साल डेटिंग करने के बाद दोनों ने जून 2013 में शादी कर ली। अनुभूति चौहान एचआर से एमबीए हैं। शादी से पहले वो जीई कंपनी में नौकरी करती थी।

अनुभूति और पीयूष के शौक करीब-करीब एक से हैं, दोनों को जिमिंग के अलावा मूवी देखने का भी शौक है। अनुभूति चौहान से करीबी बढ़ाने के लिये पीयूष चावला ने एक खास तरकीब निकाली थी, उन्होने उसी जिम में जाना शुरु कर दिया था जिसमें अनुभूति जाया करती थी, जिसके बाद दोनों की दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गयी। भले ही पीयूष चावला और अनुभूति के शौक एक जैसे हों, लेकिन खाने के मामले में दोनों बिल्कुल उल्टे हैं, पीयूष हार्डकोर नॉन-वेजेटेरियन हैं जबकि अनुभुति प्योर वेजेटेरियन हैं। साल 2017 पीयूष पहली बार पापा बनें, उनकी पत्नी अनुभूति ने दिल्ली के एक अस्पताल में एक बेटे को जन्म दिया था।

पीयूष का नाम सबसे अधिक सुर्खियां में तब आया जब उन्होंने वर्ष 2005-06 में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को गुगली पर बोल्ड किया था। सचिन जैसे क्रिकेटर को बोल्ड करना एक बहुत बड़ी बात है। आईपीएल में पीयूष चावला 2008 से 2013 तक किंग्स इलेवन पंजाब और फिर कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेले। आईपीएल-7 में कोलकाता को चैंपियन बनाने में उन्होंने अहम योगदान दिया था। कोलकाता टीम का विजयी रन पीयूष के बल्ले से ही निकला था। टीम इंडिया में फिर से जगह बनाने के लिए पीयूष इस समय बल्लेबाजी में कड़ी मेहनत कर रहे हैं। कुछ समय पहले उन्होंने कहा था कि आज क्रिकेट इतना प्रतिस्पर्धात्मक हो गया है कि निचले क्रम के खिलाड़ियों के लिए भी बल्लेबाजी अहम बनती जा रही है। गेंदबाजी में बेहतर प्रदर्शन के साथ मेरा ध्यान बल्लेबाजी में सुधार पर भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.