माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए नहाने के बाद हर रोज करें सिर्फ यह एक काम,दूर होगी धन की समस्या

सुबह का समय इंसानों के लिए कई मायनों में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। सुबह की पहली किरण के साथ ही प्रकृति का सबसे खुबसूरत नजारा दिखाई देता है, वहीँ देवी-देवताओं को भी यह समय अत्यंत प्रिय होता है। इसी समय देवी-देवताओं को पूजा-पाठ से आसानी से प्रसन्न किया जा सकता है। वैसे तो देवी-देवताओं की पूजा किसी भी प्रहर में की जा सकती है, लेकिन सुबह के समय की गयी पूजा का विशेष फल मिलता है। सुबह के समय आप कुछ ख़ास काम करके भगवाना की कृपा पा सकते हैं।धन-दौलत की हर व्यक्ति को जरुरत होती है। सबकी यही चाहत होती है कि उके पास खूब सारा पैसा हो और जीवन में कभी उसे पैसे के आभाव का सामना ना करना पड़े। लेकिन यह बात भी सत्य है कि हर किसी के नसीब में धन-दौलत का सुख नहीं होता है। इसीलिए हर व्यक्ति धन की देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने में लगा रहता है। माता लक्ष्मी के प्रसन्न हो जाने पर घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

अगर आपके जीवन में भी धन का अभाव बना हुआ है तो चिंता छोड़कर माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के बारे में सोचिये। सुबह का समय माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए बहुत ही ख़ास होता है। धर्मशास्त्रों के अनुसार हर सुबह नहानें के बाद अगर यह एक काम किया जाये तो माता लक्ष्मी बहुत प्रसन्न होती हैं। उसके बाद व्यक्ति के जीवन में कभी भी धन-दौलत से जुडी समस्या नहीं होती है।

हर सुबह करें यह एक काम:

*- ऐसा माना जाता है कि जिस घर में माता लक्ष्मी के पदचिन्हों की पूजा की जाती है, वहाँ धन की कभी कमी नहीं होती है। उस घर में माता लक्ष्मी स्वयं निवास करती हैं। धन की कमी से छुटकारा पाने के लिए प्रत्येक सुबह स्नान करने के बाद घर के दरवाजे पर माता लक्ष्मी के पदचिन्ह जरुर बनायें।

*- माता लक्ष्मी को लाल रंग से अत्यंत प्रेम है। इसलिए ऐसा कहा जाता है कि देवी लक्ष्मी के पदचिन्हों को लाल रंग के कुमकुम से ही बनाना ज्यादा शुभ होता है। इसके साथ ही अपने घर के मुख्य दरवाजे को लाल रंग के फूलों से सजाएं।

 

*- माता लक्ष्मी के पदचिन्ह घर के मुख्य दरवाजे के बाहर बना चाहिए। पदचिन्ह बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि माता लक्ष्मी के पदचिन्ह इस तरह बनायें कि वह घर में अन्दर की तरफ आती हुई दिखाई दें।

*- प्राचीन मान्यता के अनुसार जिस घर में माता लक्ष्मी के पदचिन्ह होते हैं, उस घर में किसी तरह का संकट टिक नहीं पाता है।

 

*- एक प्राचीन मान्यता यह भी है कि जिस घर में माता लक्ष्मी शुभ चिन्हों को अंकित देखती हैं, प्रसन्न होकर उसी घर में निवास करती हैं। उस घर से दरिद्रता की देवी अलक्ष्मी हमेशा के लिए दूर चली जाती हैं।