‘करण अर्जुन’ फिल्म में थीं शाहरुख और सलमान की माँ, पर आज इनकी हालत देखकर आप रह जाएंगे दंग

बॉलीवुड में हर साल, हर महीने फ़िल्में बनती हैं मगर ऐसी कुछ ही फ़िल्में होती हैं जिनकी कहानी और गाने हमेशा याद किये जाते हैं. कुछ फ़िल्में तो ऐसी होती हैं जिनके किरदार हमेशा उनके डायलॉग्स की वजह से जाने जाते हैं और लोग उन्हें कभी नहीं भूल पाते हैं. आज हम एक ऐसी ही फिल्म के बारे में बात करने जा रहे हैं जिस फिल्म का डायलॉग था “मेरे करण अर्जुन आयेंगे”, इस फिल्म का नाम ही करण अर्जुन था और यह फिल्म साल 1995 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म का निर्देशन राकेश रोशन ने किया था.

उस वक्त यह फिल्म 6 करोड़ रूपए के बजट में बनी थी और इस फिल्म की कमाई 50 करोड़ से भी ज्यादा हुई थी. आपको बता दें कि उस वक्त यह फिल्म उस साल की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली दूसरी फिल्म थी. इस फिल्म में ऐसी अभिनेत्री थी जिसे कभी नहीं भूला जा सकता है.

इस कभी न भूलने वाली अभिनेत्री का नाम राखी है और इन्होंने इस फिल्म में सलमान और शाहरुख की माँ का किरदार निभाया था. राखी ही वो अदाकारा थीं जिनकी वजह से डायलॉग “मेरे करण अर्जुन आयेंगे” आज भी लोगों की जुबान पर पाया जाता है, लेकिन आपको बता दें तब कि राखी और अब की राखी में काफी बदलाव आ चुके हैं, अब तो राखी को जल्दी पहचान पाना भी काफी मुश्किल हो गया है.

पहले कहाँ उनकी ख़ूबसूरती और एक्टिंग के लोग दीवाने हुआ करते थे वहीँ आज इनकी ऐसी हालत हो गयी है कि चेहरे पर उदासी आप साफ़-साफ़ देख सकते हैं और छोटे बाल भी जैसे कि किसी बिमारी से उभरकर आई हों वो. खैर उनकी कैसी हालत रही है इस बात की पुष्टि हम नहीं करते हैं हमने तो सिर्फ तस्वीरें देखकर आपके साथ साझा की हैं.

शायद ही आपको मालूम हो कि राखी जी का पूरा नाम राखी मजूमदार है. इन्होनें अपनी 20 साल की उम्र से ही बंगाली फिल्म ‘वधू बरन’ से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत की थी और उसके बाद करीब 200 फिल्मों में काम किया है. राखी की पहली बॉलीवुड फिल्म जीवन मृत्यु थी और इस फिल्म में उन्होंने धर्मेंद्र के साथ काम किया था.

राखी को कई बार कई फिल्मों के लिए पुरुस्कारों से भी सम्मानित किया गया है. वे आखिरी बार साल 2009 में बॉलीवुड फिल्मे क्लासमेट्स में नजर आई थीं, उसके बाद से उन्होंने कोई भी बॉलीवुड की फिल्म नहीं की है.