लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करते हैं तो हो जाए सावधान, हो सकते हैं नपुंसक

जकल की आधुनिक जीवनशैली में मोबाइल,कंप्यूटर और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स हर व्यक्ति की जरूरत बन गए हैं.. ऑफिस के काम के अलावा भी लोग अपने पर्सनल यूज़ के लिए लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं । ऐसे में अक्सर लोग लैपटॉप को टेबल पर रख उपयोग करने के बजाए अपनी गोद या जांघों पर रखकर आराम से अपना काम करते हैं। लेकिन अगर आप भी इसी तरह लैपटॉप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये आपके स्वास्थय पर बेहद प्रतिकूल प्रभाव डालता है, यहां तक कि इसके कारण आप अपनी मर्दाना ताकत भी खो सकते हैं। जी हां, अगर आपको इस बात पर यंकीन नहीं हो रहा तो पढ़िए हमारी ये विशेष स्वास्थ्य रिपोर्ट..

आकार और वजन में कम होने के साथ लैपटॉप कहीं भी ले जाने में सुविधाजनक होता हैं इसलिए आजकल कम्प्यूटर के मुकाबले लोग लैपटॉप का ही अधिक इस्तेमाल करते हैं। लेकिन उपयोग में सुविधाजनक होने के बावजूद लैपटॉप के प्रयोग में कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी है। जैसे कि कुछ लोग लैपटॉप को आराम से बिस्तर पर रखकर इस्तेमाल करते हैं ऐसे में कई बार लैपटॉप को गोद या फिर उसे अपने पैरों पर रखकर काम करते हैं जो कि सेहत के लिए बेहद हानिकारक है।

दरअसल हाल ही में अमेरिका में किए गए एक स्वास्थ्य सर्वें में ये बात सामने आई है कि गोद में लैपटॉप रखकर इस्तेमाल करने से प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इस सर्वे के लिए अमेरिकी संस्था ने 500 पुरुष पर शोध किया, जिसमें 250 पुरुष ऐसे थे जो लैपटॉप को अपनी गोद में रखकर इस्तेमाल करते थे जबकि बाकि आधे लोग लैपटॉप को टेबल पर रखकर काम करते थे। ऐसे मे जब एक साल बाद इन दोनो तरह के पुरुषों का स्वास्थ्य परिक्षण किया गया तो उसमें बेहद चौकाने वाले परिणाम आए ।

असल में इस शोध में पता चला कि जो पुरुष लैपटॉप को टेबल पर रखकर इस्तेमाल करते हैं, उनके स्वास्थय और प्रजनन श्रमता पर तो कोई प्रभाव देखने को नहीं मिला जबकि वहीं जो पुरुष अपनी गोद या जांघो पर रखकर लैपटॉप चला रहे थें, उनके शुक्राणुओं की संख्या पहले की अपेक्षा कम हो गई और साथ ही जो शुक्राणु उनके अन्दर मौजूद थें उनकी क्वालिटी में भी गिरावट देखने को मिली.. यानी लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करने वाले पुरूषों की प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक असर देखने को मिला।

दरअसल इसकी वजह ये है कि जब आप लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करते हैं तो इससे निकलने वाली हानिकारक रेडिएशन आपके प्रजनन क्षमता यानी शुक्राणुओं पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं। ऐसे में अगर आप लगातार लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करते रहे तो सम्भव है कि ये आदत आपको नपुंसक भी बना सकती है।

इसके अलावा भी लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य पर और भी कई सारे हानिकार प्रभाव पड़ते हैं जैसे कि अगर आप रोजाना लैपटॉप को अपने पैरो या जांघ पर रखकर इस्तेमाल कर रहे हैं तो इससे आपको पैरो की त्वचा बदरंग पड़ सकती है ,साथ ही इससे स्किन कैंसर होने का भी खतरा है। इसलिए बेहतर यही है कि आप लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल ना करें ।

वैसे सभी कम्प्यूटर और लैपटॉप निर्माता कम्पनियां अपने यूजर मैनुअल में लैपटॉप को गोद या पैरों पर ना रखने का निर्देश देती हैं पर फिर भी ज्यादातर लोग इसका ध्यान नहीं रखते हैं। लेकिन स्वास्थय विशेषज्ञों की माने तो इसका पालन करना जरूरी है .. कोशिश करनी चाहिए कि लैपटॉप को टेबल पर रखकर ही इस्तेमाल करें। अगर आप बेड या जंमीन पर लैपटॉप का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए आप बेड टेबल या लैपटॉप पैड का प्रयोग कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.