हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

इस अजीबो-गरीब जीव को देखकर वैज्ञानिक गलती से समझ बैठे साँप, लेकिन नजदीक से देखा तो हो गए हैरान

प्रकृति द्वारा रचित इस दुनिया में कई अजीबो-गरीब चीजें हैं। इनमे से कुछ चीजें तो इतनी ज्यादा रहस्यमयी और अद्भुत हैं कि देखकर हर कोई हैरान हो जाता है। जिस तरह से प्रकृति ने जमीन पर कई तरह के जीव-जंतु बनाए हैं, ठीक वैसे ही जल में भी जीव बनाए हैं। जमीन पर रहने वाले जीवों की अपेक्षा जल में रहने वाले जीव ज्यादा अजीबो-गरीब हैं। जल में रहने वाले कई जीवों के बारे में तो जानकारी ही नहीं है। समय-समय पर एक नए जीव के बारे में जानकारी मिल रही है।


हाल ही में ताइवान से लगे हुए समुद्र तट पर वैज्ञानिकों को एक बहुत ही डरावना जीव मिला है। इसके ऊपर शोध करने वाली एक टीम ने इसे साँप समझने की गलती कर दी। लेकिन जैसे ही इसकी सच्चाई सामने आयी, सभी लोग हैरान हो गए। शोध करने वाली टीम के अनुसार यह साँप नहीं बल्कि एक वाइपर शार्क थी। आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि वाइपर शार्क बहुत ही रेयर हैं, और इन्हें आख़िरी बार 1986 में देखा गया था। उसके बाद से यह दिखाई नहीं दी थीं।


यह वाइपर शार्क देखने में इतनी ज्यादा डरावनी है कि बच्चों से लेकर बड़े भी इसे देखकर डर जायेंगे। इस डरावनी शार्क की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि यह साइंस वाली फिल्मों के किसी खूंखार जीव की तरह अपने जबड़े के बाहर भी दाँत निकाल सकती है। अब बताइए भला इसे देखकर कोई क्यों ना डर जाये? Taiwan’s Fisheries Research Institute के एक अधिकारी के अनुसार इस वाइपर शार्क के दांत सुई से भी ज्यादा नुकीले होते हैं।

यह अपने दाँतों से किसी भी मछली या जीव का शिकार बड़ी आसानी से कर सकती हैं। अपने नुकीले दाँतों बाहर निकालकर हमला करने की वजह से ही यह खूंखार वाइपर शार्क अपने से कई गुना बड़ी मछली का शिकार पल भर में कर लेती है। आपको बता दें इस वाइपर शार्क को पहली बार 1986 में जापान के शिकोकू आईलैंड पर देखा गया था। उसके बाद से अब जाकर इस खूंखार वाइपर शार्क मछली को दुबारा देखा गया है।


वैज्ञानिकों ने इसका उस समय वैज्ञानिक नाम Trigonognathus kabeyai रखा था। इसके डरावने लूक की वजह से इसे एलियन फिश और फिश फ्रॉम हेल यानी नर्क की मछली भी कहा जाता है। ये वाइपर शार्क समुद्र में 1 से 1.50 हजार फीट की गहराई में रहती है। यह वाइपर शार्क इतनी कम और मुश्किल से मिलती है कि इसके बारे में अभी भी वैज्ञानिकों के पास ज्यादा जानकारी नहीं है। इस बार वाइपर शार्क को पकड़े जानें के बाद उम्मीद है कि इसके बारे में कुछ नई जानकारी मिलेगी।

DMCA.com Protection Status