आज के इस तेजी से विकसित होते समाज में लोग तकनीकि पर ज्यादा विश्वास करने लगे हैं। लोग घर बनवाने के लिए तकनीकि का सहारा ले रहे हैं। जबकि पहले तकनीकि के साथ ही लोग वास्तुशास्त्र का भी उपयोग करते थे। किसी भी व्यक्ति के लिए घर बनवाना बहुत ही बड़ा काम होता है। इसमें जीवन की पूरी पूंजी लग जाती है। ऐसे में आपके द्वारा की गयी एक गलती आपको जीवनभर के लिए परेशानी में डाल देती है। इसी वजह से पहले लोग वास्तु के हिसाब से घर बनवाते थे।

वास्तुशास्त्र में घर के हर हिस्से के बारे में बताया गया है। घर के किस हिस्से में क्या करना चाहिए और क्या नहीं इसके बारे में भी बताया गया है। ताकि कोई व्यक्ति गलती करके अपना जीवन ना बर्बाद कर ले। वास्तु के टिप्स घर में अपनाने से घर की नकारात्मकता दूर होती है और सकारात्मक उर्जा में बढ़ोत्तरी होती है। घर के मुख्य दरवाजे का बड़ा ही ख़ास महत्व होता है। घर के मुख्य दरवाजे पर दिशा और दिन के हिसाब से केवल यह एक चीज लटकाने से आपका बुरा समय ख़त्म हो जाता है और कई लाभ मिलता है।

घर के मुख्य दरवाजे पर करें ये काम:

*- घर के मुख्य दरवाजे का मुँह उत्तर-पूर्व या दखिन-पूर्व की तरफ हो तो गुड लक के लिए गुरुवार या मंगलवार को दरवाजे के अन्दर बायीं तरफ किसी बर्तन में पानी भरकर उसमें फूलों की पंखुडियां डालकर रखें।

*- यदि आपके घर का मुख्य दरवाजा पूर्व दिशा में हो तो किसी भी रविवार के दिन सूर्योदय से पहले जागकर दरवाजे के सामने नारियल के साथ कुछ सिक्के लाल कपड़े में बाँधकर लटका दें। इसके साथ ही सूर्य मंत्र का जाप करना ना भूलें।

*- अगर आपके घर का मुख्य दरवाजा पक्षिम दिशा में हो तो सोमवार के दिन एक रुद्राक्ष घर के मुख्य दरवाजे के बीच में लटका दें। ऐसा करने से हर कार्य में सफलता मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है।

*- दक्षिण दिशा में घर का मुख्य दरवाजा होना शुभ नहीं माना जाता है। अगर गलती से आपके घर का दरवाजा इस दिशा में बन गया है तो मंगलवार या शनिवार के दिन नीम्बू या सात कौड़ियों को धागे में बाँधकर दरवाजे पर लटका दें।

*- अगर आपके घर का मुख्य दरवाजा दक्षिण-पक्षिम या उत्तर-पक्षिम की तरफ खुलता है तो घर में बुरी शक्तियों को घुसने से रोकने के लिए बुधवार या सोमवार को मुख्य दरवाजे पर ग्लास क्रिस्टल रखें।

*- उत्तर दिशा में घर का मुख्य दरवाजा होना लाभदायक होता है। अगर आपका मुख्य दरवाजा इस दिशा में है तो शुक्रवार के दिन दरवाजे पर पीले फूलों की माला बनाकर भगवान विष्णु की आरधना करते हुए लगायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.