अब पाकिस्तान की खैर नहीं, भारतीय वायुसेना के 18 एयरबेसों को किया सतर्क

नई दिल्ली: उरी हमले के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में बेहद खटास आ गयी है। ऐसा नहीं है की यह पहली बार है, जब भारत- पाकिस्तान के रिश्तों में खटास आई हो। इस हमले के बाद दोनों के रिश्ते हर दिन बद से बदतर होते जा रहे हैं। दोनों देशों कि सीमाओं पर इस तनाव को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। (indian air force has alerted 18 airbases to become ready)

इसी वजह से पाकिस्तान कुछ दिन पहले अपने लड़ाकू विमानों को युद्ध की स्थिति के लिए तैयार कर रहा था। अब बारी भारत की है वह भी अपने वायुसेना को युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार करने जा रही है, ताकि अगर युद्ध जैसे कोई भी हालात बने तो भारत पीछे ना रह जाये।

Indian Air Force
1- बढ़ते तनाव के बीच में भारत भी अपनी युद्ध की तैयारियों में पूरी तरह से जुट गया है। इसके तहत Indian Air Force  के पश्चिम एयर कमांड को काफ़ी सतर्क रहने की सलाह दी गई है। इसके अलावा जम्मू कश्मीर, बीकानेर एयरबेस और देश के सभी 18 एयरबेस पर बड़े सुरक्षा का भी अभ्यास किया जाएगा, जो आगामी 30 सितंबर तक चलेगा।
2- अगर युद्ध की हालत बनती है तो ऐसे में Indian Air Force की भूमिका को काफी अहम भी माना जा रहा है। इसके तहत वायु सुरक्षा, भूमि सुरक्षा और हवाई गश्त का अभ्यास किया जाएगा। यह अभ्यास लगातार चार दिनों तक चलेगी। इसी तरह के अभ्यास उरी हमला होने से एक सप्ताह पहले भी की गई थी।
3- इस बात की जानकारी देते हुए एक आला अधिकारी का कहना था कि मौजूदा तनाव के समय में भारत ऐसे ही नहीं बैठ सकता है। हमारी सेनाओं को भी हर वक्त तैयार रहने की जरूरत है। यदि पाकिस्तान अपने सीमा के करीब एफ-16 विमान उड़ा सकता है तो हम क्यों शांत बैठ कर तमाशा देखें।
4- श्रीनगर, लेह, थोएस, अवंतिपुर से अंबाला, अमृतसर, हलवारा और नल एयरबेस को काफ़ी चौकस रहने को कहा जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिनों पहले ही रक्षा मंत्री समेत कई आला अधिकारियों से मुलाकात की थी। उन्होंने वॉर रूम का भी भ्रमण किया था।
5- पश्चिम एयर कमांड के चीफ एयर मार्शल एसबी देव ने तैयारियों का जायज़ा लेने के लिए कई एयरबेस का दौरा भी किया था। सेना के सभी अधिकारियों को हर समय सतर्क रहने के साथ- साथ शॉर्ट नोटिस पर मौजूद रहने को भी कहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.