अगर आपने जीवन में भी चल रहा है बहुत बुरा समय तो उसे अच्छे में बदल सकती है बस करें ये एक काम

हर इंसान के जीवन में एक चीज का सबसे ज्यादा महत्व होता है, वह है घड़ी। प्राचीन समय में जब घड़ी का निर्माण नहीं हुआ था, तब लोग समय का पता सूर्य की दिशा और दशा देखकर लगाते थे। आज लोग समय घड़ियों के माध्यम से देखते हैं। आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि घड़ी केवल समय देखने के लिए ही काम नहीं आता बल्कि वास्तु के आनुसार आपकी तरक्की के रास्ते भी खोल सकता है।केवल यही नहीं घड़ी आपने लिए नुकसान और बुरे समय का कारण भी बन सकता है। अगर आप वास्तु के घड़ी के नियमों को अनदेखा करते हैं तो आपके जीवन में चल रहा अच्छा समय बुरे समय में बदल जाता है। जबकि अगर आपका वास्तु के नियमों के हिसाब से घड़ी का इस्तेमाल करते हैं तो आपका बहुत बुरा समय भी अच्छे समय में बदल जाता है। बस आपको घड़ी से जुडी हुई कुछ सामान्य बातों का ध्यान रखना होता है।

जानिए घड़ी से जुड़े हुए वास्तु के कुछ नियम:

वास्तुशास्त्र में घर की दक्षिणी दिशा को यम की दिशा मानी जाती है। इसके साथ ही इस दिशा को ठहराव की दिशा भी माना जाता है। जो भी व्यक्ति घर की इस दिशा में घड़ी लगाते हैं, उनके जीवन में प्रगति के अवसर धीमे हो जाते हैं। इस दिशा का सम्बन्ध घर के मुखिया से भी जुड़ा होता है। ऐसा करने से मुखिया के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।

घर के मुख्य दरवाजे के ऊपर घड़ी लगाना शुभ नहीं माना जाता है। इससे घर से बाहर आते-जाते समय कई तरह की नकारात्मक उर्जा का प्रभाव घड़ी पर पड़ता है। इस वजह से घर के सदस्यों को तनाव के साथ ही कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

घड़ी को घर की पूर्व, पक्षिम या उत्तर किसी भी दिशा में लगाना अच्छा होता है। घर की पूर्व दिशा में घड़ी लगानें से घर का वातावरण शुभ और प्यार भरा बना रहता है। घर की पक्षिम दिशा में घड़ी लगाने से नए अवसरों की प्राप्ति होती है। उत्तर दिशा में घड़ी लगानें से आर्थिक नुकसान नहीं होता है।

घर में बंद घड़ी रखने से नकारात्मक उर्जा में बढ़ोत्तरी होती है और सकारात्मक उर्जा धीरे-धीरे कम होने लगती है। इसी वजह से घर में पड़ी बंद घड़ी को तुरंत ठीक करवा लें या उसे कबाड़ी में फेंक दें। घर में रखी हुई घड़ियों पर धूल भी ना जमने पाए, इस बात का भी ध्यान रखें।

कुछ लोगों की आदत होती है कि वह अपनी हाथ में पहनी जानें वाली घड़ी को सोते समय अपने तकिये के नीचे रखकर सो जाते हैं। ऐसा करना वास्तु के नियमों के खिलाफ माना जाता है। ऐसा करने से व्यक्ति के स्वाभाव पर नकारात्मकता हावी होने लगती है और उसका स्वाभाव बदलने लगता है।

पेंडुलम वाली घड़ियों को शुभ माना जाता है। यह इंसान के बुरे समय को बहुत ही जल्दी दूर कर देती हैं। पेंडुलम वाली घड़ियाँ तरक्की के नए अवसर लाती हैं। पेंडुलम वाली घड़ियों को भी घर की उत्तर, पूर्व या पक्षिम दिशा में ही लगाना चाहिए। पेंडुलम वाली घड़ियों को ड्राइंग रूम में लगाना शुभ माना जाता है।

समय से आगे पीछे चलने वाली घड़ियों को अच्छा नहीं माना जाता है। कुछ लोग अपनी घड़ियों का समय आगे या पीछे करके रखते हैं, जो गलत है। ऐसी घड़ियाँ व्यक्ति के लिए जीवन में हार या नुकसान का कारण बनती है। इसलिए भूलकर भी घड़ी के समय के साथ छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.