अगले 48 घंटे पाकिस्तान के लिए भारी, आतंकवाद खत्म करने के लिए अमेरिका करेगा कार्रवाई

आतंकवाद खत्म करने के लिए हमेशा से संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका से पैसे लेने वाला पाकिस्तान अब बुरी तरह फंस चुका है, बीते कई दशकों से वो अमेरिका के पैसे पर अय्याशी करता रहा है। लेकिन अब उसकी अय्याशी खत्म होने को है। क्योंकि पाकिस्तान अमेरिका के सामने उसकी सच्चाई सामने आ गई है। जिसके बाद अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 16 सौ 24 करोड़ की मदद रोक दी है। जिसके बाद बौखला गया है। साथ ही जिस हाफिज सईद को वो लगातार पाकिस्तान में आजाद घूमने के लिए छूट दे रखी थी। उसके संगठन को मिलने वाली मदद पर रोक लगा दी है। कुल मिलाकर पाकिस्तान को आतंकवाद का साथ देने के लिए घुटनों पर बैठने के लिए मजबूर कर दिया हैं। पर अमेरीका इतने भर से मानने वाला नहीं है। अमेरीका ने पाकिस्तान को खुली चेतावनी देते हुए कह दिया है। कि वो अगल 24 से 48 घंटे में बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में है। क्योंकि अमेरीका को पाकिस्तान का दोहरा गेम पसंद नहीं आया है।

पाकिस्तान की मुश्किलें यूं ही नहीं बढ़ी है। दरअसल विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने एक ट्वीट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस दावे को चुनौती दी कि अमेरिका ने उसे 15 सालों में 33 अरब डालर से अधिक की सहायता दी है। विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि किसी ऑडिट कंपनी से सत्यापन कराने से अमेरिकी राष्ट्रपति गलत साबित होंगे। वहीं अमेरिका के एक वरिष्ठ राजनयिक का कहना है कि ‘सहायता रोकने का फैसला पाकिस्तान के आतंकवादियों को पनाह देने से जुड़ा है.’  वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान ने इन आरोपों पर गहरी निराशा व्यक्त की और कहा कि आरोपों से दोनों देशों के बीच विश्वास को तगड़ा झटका लगा है।

पाकिस्तान की सहायता रोकने के बाद  संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने साफ कहा है कि पाकिस्तान ने कई वर्षों तक अमेरिका के साथ ‘दोहरा खेल’ खेला है लेकिन ट्रंप प्रशासन इसे बर्दाशत नहीं करेगा। निक्की ने अमेरिका की 25 करोड़ 50 लाख डॉलर की सहायता रोकने के फैसले का समर्थन किया है। न्यूयॉर्क के संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में निक्की ने कहा, पाकिस्तान ने कई वर्षों तक दोहरा खेल खेला है। पाकिस्तान एक ही समय में हमारे साथ काम करता है और उसी समय आतंकवादियों को भी पनाह देता है जो अफगानिस्तान में हमारे सैनिकों पर हमला करते हैं। प्रशासन इस खेल को बर्दाशत नहीं करेगा।

निक्की चेतावनी देते हुए कहा कि ‘हम जानते हैं कि आतंकवाद को रोकने के लिए पाकिस्तान बहुत कुछ कर सकता है और हम चाहते हैं कि पाकिस्तान आगे आए और ऐसा कुछ करे। अगर एक्शन लेने के बारे में बात कही जाए तो आप लोगों को अगले 24 से 48 घंटों के बीच जरूर कुछ देखने को मिलेगा।’

इससे पहले अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी पाकिस्तान को आईना दिखा चुके हैं। ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका ने पाकिस्तान को बीते 15 वर्षों में 33 अरब डॉलर से ज्यादा की मदद दी। लेकिन हमें पाकिस्तान ने हमेशा झूठ और छल के सिवाय कुछ नहीं दिया। वह सोचता है कि अमेरिकी नेता मूर्ख हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.