राजनीति

बड़ी ख़बर: अब दारु पीने वालों की खैर नही, 7 साल तक की होगी जेल!

दारू पीना आजकल लोगों ने फैशन बना रखा है. दारू पीने के बाद इंसान बहक जाता है और देखा गया है कि अधिकतर  दुर्घटनाएं भी दारू पीने के बाद ही होती हैं. इसी चीज को मद्देनजर रखते हुए भारत सरकार ने एक बहुत ही बड़ा कदम उठाया है. उन्होंने दारू पीकर गाड़ी चलाने वालों के लिए जुर्माना बढ़ा दिया है. साथ ही साथ अगर आप दारू पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं और किसी की मृत्यु हो जाती है तो आपको 7 साल तक की सजा हो सकती है. आपको बता दें कि पहले यह नियम तोड़ने पर सिर्फ 2 साल की जेल होती थी. परंतु, अभी हाल ही के दिनों में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि शराब पीकर चलाने से मौत के लिए सजा बिल्कुल अपर्याप्त है. इसीलिए इस सजा को 2 साल से बढ़ाकर 7 साल किया जाता है और रोड दुर्घटना में ऐसे केस बहुत आए हैं जो अपने साथ साथ दूसरों की भी मौत का कारण बनते हैं उन्हें भारतीय दंड संहिता अनुच्छेद के अनुसार 304 ए के तहत 2 साल की सजा कम है इसीलिए इसको 7 साल किया जाता है।

नितिन गडकरी के अगुवाई वाली सरकार ने ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने राजनाथ सिंह की अगुवाई वाले गृह मंत्रालय को कई और सुझाव भी दिए गए हैं जिसमें ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने गृह मंत्रालय से यह अनुरोध किया है कि जो लोग रोड पर दारू पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं और उनके द्वारा किसी भी प्रकार का दुर्घटना होती है तो उन पर लापरवाही से गाड़ी चलाने के बजाय मानव हत्या पर मुकदमा करवाया जाए. जिसमें यह कारावास की संख्या 10 साल तक हो जाएगी जिससे लोग शराब पीकर गाडी चलाने में रोकथाम मिलेगी और आशा करते हैं कि लोग गाड़ी दारू पीकर चलाना बंद कर देंगे।

अधिकतर आपने समाचार में देखा ही होगा कि रोड दुर्घटनाएं ज्यादा हो रही है भारत सरकार ने यह फैसला हर साल बढ़ रहे ड्रंकन ड्राइव के मामलों को देखकर उठाया है रोड दुर्घटना का सबसे मुख्य कारण शराब पीकर गाड़ी चलाना ही होता है शराब पीने के बाद लोग बहुत तेज गाड़ी चलाते हैं और ज्यादा सोचने समझने की क्षमता नहीं रह जाती है इसीलिए किस समय पर ब्रेक लगाना है और नहीं यह वह समझ नहीं पाते हैं इस वजह से काफी भयानक दुर्घटनाएं होती हैं और लोगों की जान भी जाती है।

दूसरा अहम फैसला भी सरकार के द्वारा लिया गया है कि जब भी कोई नई गाड़ी खरीदता है और उसका रजिस्ट्रेशन कर आता है उसी समय उसको थर्ड पार्टी से लाइफटाइम का बीमा कराना अनिवार्य है जो अभी तक 1 वर्ष बाद रिन्यू कराना पड़ता था. किंतु  सरकार ने यह कानून बदलकर लाइफटाइम का कर दिया है. जिससे गाड़ियों की कीमत पर काफी ज्यादा असर पड़ेगा और काफी महंगी हो जाएगी।

इतना ही नहीं सरकार ने दारू पीकर गाड़ी ना चलाने के लिए कई प्रकार के कार्य भी आयोजित किए हैं जिसमें वह लोगों को संबोधित करेंगे कि दारू पीकर गाड़ी ना चलाएं लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए सरकार जल्द ही इन पर अमल करेगी और लोगों तक पहुंचाएगी इस बात को की दारू पीकर गाड़ी चलाना कितना खतरनाक और दुर्भाग्यपूर्ण होता है आप अपने साथ-साथ कई लोगों की जिंदगी को लेकर चलते हैं इसीलिए सरकार ने आम लोगों से अपील करी है कि दारू पीकर गाड़ी ना चलाएं।

Back to top button