शिव कथा: क्रोधित होकर महादेव ने इस जगह खोली थी अपनी तीसरी आंख, यहां अपने आप खौलता है पानी भगवान शिव संहारक और पालक के रूप में जाने जाते हैं. महादेव के बारे में कई पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं, उन्हीं में से एक कथा हम आपके लिए लेकर आये हैं.

शिवजी की कल्पना एक ऐसे देव के रूप में की जाती है जो कभी संहारक तो कभी पालक होते हैं.

शिव कथा: क्रोधित होकर महादेव ने इस जगह खोली थी अपनी तीसरी आंख, यहां अपने आप खौलता है पानी भगवान शिव संहारक और पालक के रूप में जाने जाते हैं. महादेव के बारे में कई पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं, उन्हीं में से एक कथा हम आपके लिए लेकर आये हैं. " href="https://www.newstrend.news/223485/mahadev-ne-is-jagah-kholi-thi-apni-teesri-aankh/">Read more