नवाबों ने शहर लखनऊ के जितेश सिंह ने सबको दी पटखनी, बने मिस्टर इंडिया वर्ल्ड

मुंबई: हमारे समाज में आज लोगों की खूबसूरती और उनकी बुद्धिमत्ता का आंकलन करने के लिए कुछ प्रतियोगिताएं करवाई जाती हैं। पहले इस तरह की परम्परा नहीं थी। पहले जिसके पास ताकत थी वही सबसे ज्यादा बुद्धिमान माना जाता था। वह सबकुछ अपने हिसाब से तय करता था कि क्या सही है और क्या गलत है। लेकिन आज के इस समय में पहले की तरह कुछ भी कर पाना मुमकिन नहीं रह गया है। आज लोकतंत्र का समय है। आज सबके पास अधिकार है कि वह चुनाव कर सके और खुद से निर्धारित कर सके।

चुनाव केवल राजनीति के लिए ही नहीं होता है बल्कि हर एक चीज के निर्धारण के लिए चुनाव करवाया जाता है। मसलन अगर किसी को खुबसूरत भी बताना है तो उसके लिए चुनाव किया जाता है और फिर बाते जाता है कि फलाना व्यक्ति खुबसूरत है। इसके लिए कुछ प्रतियोगिताएं रखी जाती हैं और जो प्रतियोगिताओं के मापदंडों पर खरे उतरते हैं, उन्हें ही विजेता घोषित किया जाता है। आपको तो पता है कि लखनऊ नवाबों के शहर के नाम से मशहूर है।


हालांकि आज लखनऊ में नवाब नहीं रहते हैं, लेकिन यहाँ के लोगों की नवाबी ठाठ आज भी कायम है। हाल ही में इसी नवाबों ने शहर के एक छोरे ने अपने शहर का नाम रौशन किया है। यहाँ के रहने वाले जितेश सिंह देव ने पीटर इंग्लैंड मिस्टर इंडिया 2017 का खिताब जीत लिया है। फ‌र्स्ट रनर अप अभि खजूरिया और सेकेंड रनर अप की उपलब्धि पवन राव के हिस्से में आई है। मिस्टर इंडिया प्रतियोगिता के फाइनल में कुल 17 प्रतियोगी पहुँचे थे। विजेताओं को कंगना रनौत ने सम्मानित किया।

जितेश अब 2020 में होने वाले मिस्टर वर्ल्ड प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। ख़िताब जीतने के बाद जितेश ने कहा, “मैंने खिताब जीतने के बारे में तो नहीं सोचा था, लेकिन मुझे खुद पर विश्वास था। आत्मविश्वास की ताकत आपको हमेशा प्रेरित करती है। जब मेरे नाम की घोषणा हुई तो मैं अवाक रह गया। मेरे पास कहने को कोई शब्द ही नहीं थे।“ उन्होंने कहा कि यह ख़िताब जीतने के साथ ही जिम्मेदारी भी बढ़ गयी है। मिस्टर वर्ल्ड की प्रतियोगिता और भी कठिन होने वाली है। आज मैं अपनी जीत का जश्न मनाऊंगा, लेकिन कल से एक नई पारी की शुरुआत करूँगा। मुझे कड़ी मेहनत करनी है।

Share this

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.