चतरा: भारत एक अद्भुत देश हैं। यहाँ कई ऐसी चमत्कारिक चीजें देखने को मिलती हैं, जिसे देखने के बाद अपनी आँखों पर यकीन ही नहीं होता है। कुछ चमत्कार तो ऐसे भी होते हैं, जिसे देखकर वैज्ञानिक भी आश्चर्य में पड़ जाते हैं। उन्हें समझ में ही नहीं आता है कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। आप तो जानते हैं भारत एक धार्मिक देश है और यहाँ के लोग आस्था के ऊपर निर्भर रहते हैं। कई बार धार्मिक आस्था की वजह से लोग ऐसे काम भी करते हैं, जिसे देखकर पागलपन लगता है। लेकिन दरअसल वो होता नहीं है।

भारत में कई ऐसी चमत्कारी जगहें हैं, जिसके बारे में लोग अंजान हैं। जिन जगहों के बारे में लोग जानते हैं, वहाँ जाकर अपनी समस्याओं से निजात पा रहे हैं। आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके चमत्कार को देखकर आप हैरान हो जायेंगे। बिहार के राजगीर की तरह ही चतरा जिले के गिद्धौर प्रखंड में भी एक गर्म पानी वाला चमत्कारिक कुंड है। जाड़े के मौसम में यह कुंड लोगों के आकर्षण का केंद्र बना रहता है। इस जलकुंड के बारे में राजगीर के कुंड की अपेक्षा कम लोग ही जानते हैं।

यह जलकुंड बलबल जलकुंड के नाम से प्रसिद्ध है। इस जलकुंड के बारे में कहा जाता है कि इस कुंड में नहाने से चर्मरोग तुरंत ठीक हो जाता है। इस कुंड से हमेशा गर्म पानी निकलता रहता है। इस कुंड का गर्म पानी और चर्मरोग ठीक करने की ख़ासियत ही इसे ख़ास बनाती है। यहाँ के पुजारी के अनुसार इस कुंड में स्नान करने से कई बिमारियों से मुक्ति मिलती है। यहाँ स्नान करने के बाद लोग बागेश्वरी मंदिर में माँ दुर्गा की पूजा अर्चना करने के लिए जाते हैं।

वैसे तो यहाँ ठंढ के मौसम में भीड़ जुटनी शुरू हो जाती है। लेकिन नए साल और मकर संक्रांति के समय सैलानियों की ज्यादा भीड़ इकट्ठी होती है। इस जगह पर मकर संक्रांति के समय 10 दिनों के लिए भव्य पशु मेला भी लगता है। इस मेले में आस-पास के राज्यों से भारी संख्या में लोग इकठ्ठा होते हैं। इस जल कुंड में गंधक की मात्रा पायी जाती है, इसलिए यह चर्म रोगों में फायदेमंद होता है। इससे कई अन्य रोग भी ठीक हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.