आखिर क्यों स्कूल से बेदखल कर दिया गया था शर्मीला टैगोर को, जानें उनके जीवन से जुड़े कुछ अनकहे सच

मुंबई: किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक स्कूल में पढ़ने वाली साधारण लड़की एक दिन बॉलीवुड में कदम रखेगी और सफल अभिनेत्री बनेगी। केवल यही नहीं वह पटौदी खानदान की बहू भी बनेगी। लेकिन सच्चाई आज हमारे सामने हैं। परिवार बनाने के बाद भी फिल्मों से नाता नहीं तोड़ा। जब शर्मीला टैगोर की जिंदगी के पन्ने पलटेंगे तो पाएंगे कि वह केवल एक सफल अभिनेत्री ही नहीं रही हैं बल्कि एक रोल मॉडल के तौर पर भी हैं। उनके जीवन से बहुत कुछ सबक मिलता है। शर्मीला टैगोर ने 8 दिसंबर को अपना जन्मदिन मनाया।

कॉमर्शियल फिल्मों से अपना सफ़र शुरू करने वाली शर्मीला आर्ट फिल्मों की तरफ गयी और सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी बनी। कम लोग ही इस बात को जानते हैं कि शर्मीला फिल्मों में काम नहीं करना चाहती थी। वह अपने माता-पिता से दूर अपने ग्रैंड पैरेंट के साथ कोलकाता में अपनी स्कूलिंग कर रही थीं। उस समय मशहूर फिल्म निर्देशक सत्यजित रे अपनी एक बंगाली फिल्म अपुर संसार के लिए एक नए चेहरे की तलाश कर रहे थे। उन्होंने अखबार में इश्तिहार दिया और शर्मीला ने अपने दोस्तों के कहने पर मजाक में अप्लाई भी कर दिया।

जब यह रोल लेकर सत्यजित रे शर्मीला के घर पहुँचे थे तो उनके पिता बहुत खुश हुए थे। एक इंटरव्यू में शर्मीला ने पहली फिल्म के पहले शॉट के बारे में बताया कि, “मेरा पहला शॉट था, जिसमें मैं नई नवेली दुल्हन बनी हुई हूँ और मुझे दरवाज़ा खोलकर अन्दर जाना है जहां कैमरा सेटअप था। मुझे अच्छी तरह याद है कि जब मैं अन्दर कदम रख रही थी, तब मुझे लगा कि मेरी नई ज़िंदगी शुरू हुई है और उस दिन से मेरी ज़िंदगी बदल गई।“ जब शर्मीला ने फिल्मों में काम करना शुरू किया तो उन्हें स्कूल से बाहर निकाल दिया गया। उस समय फिल्मों में काम करना अच्छी बात नहीं मानी जाती थी।

स्कूल की फैकल्टी की यह लगा कि शर्मीला स्कूल की अन्य लड़कियों पर गलत असर डाल रही हैं। हालांकि स्कूल से निकाले जाने के बाद शर्मीला ने दुसरे स्कूल में दाखिला ले लिया। धीरे-धीरे शर्मीला ने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरुआत की और आगे बढती गयी। चार-पाँच बांग्ला फिल्मों में काम करने के बाद 1964 में शर्मीला ने पहली बार ‘कश्मीर की कलि’ से हिंदी फिल्मों में कदम रखा। इसके बाद शर्मीला ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और बॉलीवुड के सभी मशूर अभिनेताओं के साथ काम किया। शर्मीला की मुलाकात मंसूर से उनके कोलकाता वाले घर पर एक पार्टी के दौरान हुई और दोनों में पहली नजर में ही प्यार हो गया। बाद में दोनों ने शादी कर ली।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.