विशेष

चीन के इस व्यक्ति को मिला पारस पत्थर, जिसनें बदल दी जिंदगी,रातो-रात बना करोड़पति

पारस पत्थर की कहानी से तो आप परिचित ही होंगे। ऐसा माना जाता है कि इस पत्थर में ऐसी ताकत होती है जिससे इसके संपर्क में आने वाला कोई भी धातु सोना बन जाता है। हालांकि यह सच है या नहीं, इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। कुछ लोगों के अनुसार नेपाल के पशुपति नाथ मंदिर में एक पारस पत्थर रखा हुआ है। हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि अगर नेपाल में पारस पत्थर है तो वह देश इतना गरीब क्यों है।

जो भी हो यह तो बस एक लोककथा है, लेकिन इस लोककथा को चीन के एक व्यक्ति ने सच साबित कर दिया है। जी हाँ उस व्यक्ति को पारस पत्थर मिला है, जिसने उसे रातो-रात करोड़पति बना दिया है। चीन के रहने वाले एक ग्रामीण बो चुलोऊ को एक पारस पत्थर मिला है। आपको पहले ही बता दें यह कहानियों वाला पारस पत्थर नहीं है। बो को एक दिन एक ऐसा सुअर मिला जिसे मारने पर उसके पेट पत्थर जैसी एक चीज निकली, जिसने उसे करोड़पति बना दिया।

सुअर के पेट से निकले इस पत्थर की दुनिया में काफी माँग है, जिसकी वजह से इस पत्थर की कीमत लाखों-करोड़ों में है। जब बो ने पहली बार इस पत्थर को देखा तो उसे इसका बिलकुल भी अंदाजा नहीं था कि यह करोड़ो की कीमत वाला पत्थर है। अपने पड़ोसियों की बातों से उसे लग रहा था कि जरुर यह पत्थर ख़ास है। बाद में वह इस पत्थर को लेकर अपने बेटे के साथ संघाई गया। जब वहाँ इस चार इंच लम्बे और 2.7 इंच परिधि वाले पत्थर की असली कीमत जानी तो हैरान रह गया। संघाई में उसे पता चला कि यह पत्थर जैसी दिखने वाली चीज बेजोर है।

बो को जो बेजोर पत्थर मिला था उसकी कीमत चार करोड़ थी। बेजोर जानवरों के अन्दर ही पाया जाता है और बहुत ही काम का होता है। इससे कई तरह की दवाईयां बनाई जाती है। जादुई दवा माने जाने वाले इस बेजोर का पता सबसे 1600 ईसवी में इंग्लैंड में चला था। उसके बाद से ही इसका इस्तेमाल चीनी लोक दवा के रूप में किया जा रहा है। कई तरह के जहर से बचने के लिए इससे इंजेक्शन बनाये जाते हैं। इस पत्थर की एक ख़ास बात और भी है कि यह तभी काम का होता है जब यह जानवर की आंत से पाया बो ने अब फैसला किया है कि वह इस पत्थर की नीलामी करेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close