विशेष

नेहरु ने नेता जी की मौत को छुपाकर देश के साथ की गद्दारी: राज्यश्री

 

राष्ट्रीय स्वाभिमान ट्रस्ट की नेशनल सेक्रेटरी और क्रन्तिकारी नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की प्रपौत्री राज्यश्री चौधरी, एक आंदोलन के जरिए नेताजी की सच्चाई को सामने लाने के लिए देश भर में जनता से अपील कर रहीं हैं। इस संबंध में वे जयपुर आईं और नेताजी से जुड़े अनेक अनकहे पहलुओं पर मीडिया से खास बातचीत की।

राज्यश्री जी की बातें उन्हीं की जुबानी-

राज्यश्री ने बताया कि देश के सबसे बड़े गद्दार तो हमारे पहले प्रधानमंत्री नेहरू जी हैं, इन्होंने देश और कांग्रेस पार्टी को अपनी जागीर बना कर रखा था और आगे इनकी यही रणनीति राजनीती में इनके परिवारवाद से जीवित रही।

इन्होंने और इनके परिवार ने भारतीय जनता को हमेशा अंधकार में रखा और उन्हें हमेशा गलत तथ्य और आंकणों में उलझा के रखे रहा। कारण जगजाहिर था, सत्ता का लोभ। नेहरू जी ने नेताजी की मौत को एक रहस्य बना दिया। उन्होंने देश पर इस मुद्दे के लिए आवाज़ भी नहीं उठने दी और फर्जी की कमेटियां बना कर झूठ को सच साबित करने की कोशिश कर दी।

झूठ साफ़ था सरकारी आंकणों की माने तो नेताजी की मौत 16 बार हो सकी है, इस ख़रीदे हुए इतिहास के पीछे सिर्फ और सिर्फ नेहरू जी जिम्मेदार हैं। ताइवान में नेताजी की मृत्यु किसी विमान दुर्घटना में नहीं हुई थी, यह सरासर झूठी बात है और इसे अटल बिहारी सरकार में आयी मुखर्जी कमेटी ने साबित भी कर दिखाया। जस्टिस मनोज मुकर्जी की रिपोर्ट में बताया गया था कि करीब 64 फाइले नेता जी से जुड़ी हुई हैं जो पश्चिम बंगाल सरकार के पास हैं। अब वे स्पेशल ब्रांच में चली गई हैं। हम चाहते हैं उन फाइल्स के अलावा उनकी रिलेटेड फाइल्स भी सामने आएं। तभी पता चल सकेगा कि नेताजी का क्या हुआ…..?

 

Related Articles

Close