All News, Breaking News, Trending News, Global News, Stories, Trending Posts at one place.

जानें विश्व के पहले 5 स्टार जेल के बारे में, ऐसा जेल जहां हर कोई जाना चाहेगा

समाज की अवधारण के साथ ही समाज में अपराध नियंत्रण के बारे में भी सोचा गया। समाज की उत्पत्ति के साथ ही अपराध भी फैला। हमेशा से ही अपराध इस समाज का हिस्सा रहा है। समय के साथ-साथ अपराध की प्रकृति में भी बदलाव होता गया। प्राचीनकाल से ही अपराध करने वालों को समज द्वारा निर्धारित सजाएं दी जाती रही हैं। आज के समय में अपराध करने वालों को जेल में भेजा जाता है। अलग-अलग अपराध के लिए अलग-अलग समय के लिए जेल भेजे जाने का प्रावधान है।

कोई भी व्यक्ति जेल नहीं जाना चाहता है। क्योंकि जेल जाने के बाद व्यक्ति को तरह-तरह की यातनाएं झेलनी पड़ती हैं। यही वजह है कि अपराधी भी जेल जाने से डरते हैं और जेल से बचने के लिए तरह-तरह की तरकीब भी अपनाते हैं। जेल की हालत कैसी होती है और वहाँ किस तरह की सुविधाएँ दी जाती हैं, यह किसी से छुपा हुआ नहीं है। लेकिन आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे जेल के बारे में बताने जा रहे हैं, जहाँ जाने से किसी को भी परेशानी नहीं होगी। इस जेल में अपराधियों को फाइव स्टार सुविधाएँ दी जाती हैं। यही वजह है कि इसे दुनिया के पहले फाइव स्टार जेल का दर्जा मिला हुआ है।

दरअसल हम जिस फाइव स्टार जेल की बात कर रहे हैं, अह ऑस्ट्रिया में स्थित है। इस जेल का नाम जस्टिस सेंटर लियोबेन रखा गया है। इस जेल को दुनिया के प्रसिद्ध आर्किटेक्ट जोसेफ होहेंसिन्न ने डिज़ाइन किया था। इस जेल को 2005 में ऑस्ट्रिया के पहाड़ी इलाके लियोबेन में शुरू किया गया था। इस जेल की क्षमता 205 कैदियों को रखने की है। इस जेल में रहने वाले कैदियों को वो सभी सुविधाएँ दी जाती हैं, जो किसी फाइव स्टार होटल में दी जाती हैं।

इस जेल के कैदियों को जिम, स्पा और कई इनडोर गेम की सुविधा भी दी जाती है। इस जेल में 13 कैदियों को एक साथ इकठ्ठा होने की इजाजद दी जाती है। वह एक दुसरे के साथ अपने सेल भी शेयर कर सकते हैं। इस जेल की सेल भी अन्य जेलों से बिलकुल अलग है। हर सेल में एक पर्सनल बाथरूम, किचन और एक लिविंग रूम है, जिसमें टीवी भी लगी हुई है। हर सेल में एक बड़ी खिड़की भी लगायी गयी है जो बाहर बालकनी में खुलती है। इस जेल में गार्डन भी है, जहाँ सुबह-शाम कैदी टहलने के लिए जाते हैं।

जेल के अगले वाले हिस्से में अदालत का काम होता है। जेल के इस अगले हिस्से को आम जनता के लिए भी खुला रखा जाता है। यहाँ से जेल के अन्दर का नजारा आराम से देखा जा सकता है। इस जेल के परिसर में दो शिलालेख भी हैं। एक शिलालेख पर अमेरिका की स्वतंत्रता के घोषणा पत्र से लिया गया वाक्य ‘हर इंसान आजाद पैदा होता है, और वह सब एक समाज गरिमा और जीवन के हक़दार होते हैं’ लिखा गया है। जबकि दुसरे शिलालेख पर लिखा गया है, ‘प्रत्येक व्यक्ति जो अपनी आजदी से वंचित है, उसके साथ भी उसके मूलभूत गौरव और सम्मान के साथ मानवीय व्यवहार करना चाहिए।

DMCA.com Protection Status